अवैध अतिक्रमण अथवा अवैध टैक्सी, आटों, बस स्टैण्ड हटाये जाने पर होगी सख्त कार्यवाही

लखनऊः (मानवी मीडिया)मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  के निर्देशों के क्रम में प्रदेश की राजधानी लखनऊ से जुड़ने वाले तीनों राष्ट्रीय राजमार्गो पर यातायात के सुचारू रूप से संचालन हेतु अपर मुख्य सचिव, गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी की अध्यक्षता में आज लोक भवन स्थित कमाण्ड सेण्डर में एक उच्चस्तरीय बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें पुलिस महानिदेशक,  डी0एस0 चौहान भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर लखनऊ से कानपुर, लखनऊ से बाराबंकी एवं लखनऊ से सीतापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात के सुचारू संचालन, सर्विस लेन को अवैध अतिक्रमण से मुक्त करने, समुचित प्रकाश एवं सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु पूर्व की बैठक में विभिन्न बिन्दुओं पर लिए गये निर्णयों के क्रम में अब तक हुई प्रगति की गहन समीक्षा की गयी।

अपर मुख्य सचिव, गृह  अवनीश कुमार अवस्थी ने यातायात के सुचारू रूप संचालन हेतु विभिन्न विभागों में परस्पर समन्वय से कार्रवाई किये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए नगर निगम, जिला व पुलिस प्रशासन, एन0एच0ए0आई0, पी0डब्लू0डी0, लखनऊ विकास प्राधिकरण व यातायात विभाग के लिए नामित नोडल अधिकारियों की एक टीम बना कर प्रभावी पर्यवेक्षण व समुचित कार्रवाई की जायें। यह टीम प्रत्येक सप्ताह बैठक कर यातायात के सुचारू संचालन से संबंधित विभिन्न बिन्दुओ पर परस्पर संवाद कर उसके शीघ्र समाधान हेतु कार्रवाई करेगी तथा उसकी जानकारी शासन को भी देगी।

नगर में ई रिक्शा संचालन से होने वाले जाम की समस्याओं पर भी विचार किया गया। बैठक में सभी ई रिक्शों के पंजीकरण कराये जाने तथा उनके रूट निर्धारण आदि की व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये गये। जिन स्थानों से अवैध अतिक्रमण अथवा अवैध टैक्सी, आटों, बस स्टैण्ड हटाये गये है, उनके पुनः स्थापित होने पर जिला व पुलिस प्रशासन को सख्त कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये है।

शासन द्वारा प्रदेश के सभी जिला एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है कि वे अपने जनपद में ट्रैफिक जाम की समस्या से निपटने हेतु कार्ययोजना बनाकर उसका क्रियान्वयन सुनिश्चित करे। अपर पुलिस महानिदेशक, यातायात द्वारा इस संबंध में हुई प्रगति से अवगत कराया गया। कार्ययोजना की जानकारी वेबसाइट पर भी सर्व साधारण की जानकारी हेतु उपलब्ध कराये जाने के भी निर्देश दिये गये है।

उल्लेखनीय है कि जाम की समस्या मुख्य रूप से शहर में समय से पहले भारी वाहनो की इंट्री, सर्विस लेन पर अतिक्रमण, सड़कों के किनारे बिना पार्किंग के काम्प्लेक्स का निर्माण, अनियमित वेडिंग जोन, हाईवे और शहर के अन्दर बिना पार्किंग के मैरिज हाल, विद्यालय, कोचिंग, माल, व्यावसायिक प्रतिष्ठाानों के बाहर सड़क पर पार्किंग, प्रतिबन्ध के बावजूद सड़क पर ई रिक्शों का संचालन, एकल दिशा मार्गो का सही से पालन न होने आदि के कारण होती है।

अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा इन तथ्यों को ध्यान मे रखते हुए प्रदेश के हर जनपद में जाम से मुक्ति दिलाने के लिये कार्ययोजना तैयार कर उसका क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने तथा उसका विवरण अपर पुलिस महानिदेशक यातायात एवं सड़क सुरक्षा को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये है।

लखनऊ के जानकीपुरम विस्तार में नया बस अड्डा बनाये जाने के संबंध मंे आने वाली व्यावहारिक कठिनाईयों पर भी बैठक में विस्तार से विचार विमर्श किया गया तथा इस कार्य में शीघ्रता लाने के लिए आवश्यक निर्देश दिये गये। लखनऊ मे राजकीय परिवहन निगम के सभी बस स्टैण्ड पर बसों के बाहर सड़क पर खड़े होने से रोकने केे लिए निगम द्वारा विशेष दस्ते तैनात किये गये है जिसकी सूची जिला व पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को बैठक में उपलब्ध करायी गयी।

बैठक में बताया गया कि लखनऊ से कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित कम ऊचाई के डिवाइडरों का मानक के अनुरूप निर्माण कार्य किया जा रहा है जिसे शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये गये है। राजमार्गो पर प्रकाश की समुचित व्यवस्था हेतु हाई-मास्ट लाईटों को निर्धारित स्थानों पर शीघ्र लगाये जाने एवं उसके बाद उसके बिल आदि के भुगतान की जिम्मेदारी सुनिश्चित कर दी गई है ताकि यह व्यवस्था लगातार चल सके।

लखनऊ को जोड़ने वाले तीनों राजमार्गो के किनारे स्थित सर्विस रोड को अतिक्रमण से पूरी तरह मुक्त कराने के लिये की गयी कार्रवाई की भी समीक्षा की गयी। अतिक्रमणकर्ताओं को अतिक्रमण स्वतः हटाये जाने हेतु संवाद स्थापित कर शीघ्र नियमानुसार अतिक्रमण हटवाये जाने के निर्देश दिये गये है।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि कानपुर रोड पर वाहनों की पार्किंग व्यवस्था हेतु भूमि का चिंन्हाकन किया गया है जिसे नियमानुसार लीज पर लिये जाने हेतु आवश्यक कार्रवाई शीघ्र की जायेगी। उन्होेंने यह भी बताया कि लखनऊ के मास्टर प्लान में भी इसकी समुचित व्यवस्था की गई है। बैठक में यह भी निर्देश दिये गये कि पार्किंग व्यवस्था वाले स्थलों पर शौचालय आदि की जरूरी सुविधाओं की भी व्यवस्था अवश्य सुनिश्चित की जाय।

अपर मुख्य सचिव, गृह  अवनीश कुमार अवस्थी ने राष्ट्रीय राजमार्गो विशेषकर शहीद पथ पर भी वाहनों की गति सीमा व उसके उल्लंघन पर होने वाली कार्रवाई की जानकारी से संबंधित पर्याप्त मात्रा में संकेतक एवं चिन्हकों के बोर्ड, स्टीकर आदि को लगवाये जाने में हुई प्रगति की समीक्षा की तथा यह कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दियें।

  अवैध टैम्पों स्टैण्ड हटाये जाने, वाहनों के खड़े होने तथा उनके मार्ग में रूकने के स्थानों को निर्धारित किये जाने के कार्य में हुई प्रगति की बैठक में भी समीक्षा की गयी। बैठक में बताया गया कि पार्किंग हेतु चिन्हित स्थलों से वाहनों की क्रमानुसार रवानगी हेतु व्यवस्था निर्धारित किये जाने तथा इसके लिए सोसाइटी बनाने पर भी सहमति बनायी जा रही है। यातायात नियमों के उल्लंघन पर लखनऊ के कल्ली पश्चिम क्षेत्र में जब्तशुदा वाहनों को रखने की व्यवस्था हेतु निर्देश दिये गये है कि उनके नियमानुसार समय-समय पर निस्तारण की कार्रवाई की जाय।

बैठक में सचिव, गृह  बी0डी0 पाल्सन, पुलिस आयुक्त, लखनऊ,  एस0बी0शिरडकर, अपर पुलिस महानिदेशक,यातायात  अनुपम कुलश्रेष्ठ, जिलाधिकारी लखनऊ  सूर्य पाल गंगवार, लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष  इंद्रमणि त्रिपाठी के अलावा, आवास, नगर विकास, पंचायती राज, परिवहन, लोक निर्माण विभाग, व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण आदि के अधिकारियों ने भी भाग लिया।


Previous Post Next Post