वास्तविक मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए भाजपा सरकार द्वारा बदले की भावना से की जा रही कार्यवाही शर्मनाक - निंदनीय- कांग्रेस

लखनऊ (मानवी मीडिया) केन्द्र की भाजपा सरकार के इशारे पर दिल्ली पुलिस द्वारा कांग्रेस मुख्यालय 24 अकबर रोड, में घुसकर कांग्रेस नेताओं और पार्टी नेताओं को पीटने एवं दुर्भावना से ग्रसित होकर परेशान करने के विरोध में उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने लखनऊ में कांग्रेस नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में राजभवन घेरने की कोशिश की। जिसमें पुलिस प्रशासन से झड़प और लाठीचार्ज हुआ और गिरफ्तार कर इको गार्डेन ले जाया गया। पुलिस से झड़प में कई कार्यकर्ताओं को चोटें भी आईं हैं।

     प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के संयोजक और प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने भाजपा सरकार के अलोकतांत्रिक रवैये पर सवाल करते हुए कहा कि विगत 3 दिनों में 30 घंटे से ज्यादा प्रवर्तन निदेशालय Ed द्वारा श्री राहुल गांधी जी को पूछ-ताछ के लिए बुलाकर परेशान किया जा रहा है जबकि सभी तथ्य और सच्चाई सामने है, हिटलर शाही करके हमारे नेताओं कार्यकर्ताओं की असंवैधानिक तरीके से गिरफ्तारी हो रही है, पार्टी मुख्यालय में दिल्ली पुलिस द्वारा घुसकर कार्यकर्ताओं को पीटना और दुर्व्यवहार दिखाता है कि देश में लगातार लोकतंत्र को कुचलने की कोशिश हो रही है।

  अंशू अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि आज हम सभी कांग्रेस जन शान्ति पूर्वक अपना विरोध दर्ज कराने राजभवन जा रहे थे लेकिन पुलिस द्वारा रोका गया और गिरफ्तार किया , राज्यसभा सांसद वरिष्ठ नेता श्री प्रमोद तिवारी एवं नेता विधान मंडल दल आराधना मिश्रा मोना, पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी एवं पूर्व MLc हुस्ना सिद्दीकी, प्रवक्ता पंकज तिवारी एवं अन्य नेताओं को हाउस अरेस्ट कर लिया जो पूरी तरह असंवैधानिक है लोकतंत्र में सभी को अपनी बात और शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने का अधिकार है लेकिन भाजपा सरकार अधिकारों को समाप्त करना चाहती है। भाजपा जितना दमन करने की कोशिश करेगी आन्दोलन उतना ही मुखर होगा, हम कांग्रेस जन डरने वाले नहीं पूरा देश राहुल गांधी जी के साथ है। कल पुनः इस तानाशाही केे खिलाफ कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन करेगी।

  अंशू अवस्थी ने बताया कि आज भी राजभवन जाने से रोका गया लेकिन कुछ कांग्रेस जन पुलिस से बचकर राजभवन पहुंचे जहां उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया राजभवन पहुंचने वालों में वरिष्ठ नेता द्विजेंद्र राम त्रिपाठी, वीरेंद्र मदान, के.के. पांडेय , शमशाद एवं  सीमा एवं अन्य रहे, प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार होने वालों में प्रमुख रूप से राष्ट्रीय प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह, विधायक वीरेंद्र चौधरी, पूर्व विधायक सतीश अजमानी, उपाध्यक्ष विश्व विजय सिंह, तनुज पुनिया, संगठन महासचिव दिनेश सिंह, डा0 पंकज श्रीवास्तव, सच्चिदानंद पाण्डेय, अम्बरीष गौर, मनोज तिवारी, बृजेश सिंह, संपूर्णानंद मिश्रा, अंशू अवस्थी, विकास श्रीवास्तव, आसिफ रिजवी रिंकू, अनिल यादव, विवेकानंद पाठक, रफत फातिमा, संजय सिंह, राजेश काली, मुकेश सिंह चौहान, आरती बाजपेई, धीरज श्रीवास्तव, वरिष्ठ कांग्रेस महिला नेत्री लालती देवी, विभा त्रिपाठी, कांग्रेस प्रवक्ता विशाल सिंह राजपूत, प्रियंका गुप्ता, आचार्य मनोज कुमार पाण्डेय, कैप्टन बंशीधर मिश्रा, अंशू त्रिपाठी, सुशीला शर्मा, प्रत्याशी रमा कश्यप, विषम सिंह, अयूब सिद्दीकी, प्रजा सिंह, रेहान खान, मुन्ना दीक्षित, आशीष सिंह, जीतलाल सरोज, जितेन्द्र कुमार वर्मा, राहुल अवस्थी, डा0 शहजाद आलम, प्रभाकर मिश्रा, रविन्द्र गिरि, आरबी सिंह, अनोखे लाल तिवारी कांग्रेस झण्डा प्रचारक सहित तमाम कांग्रेस के नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद रहें।

प्रदर्शन के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं को चोटें भी आईं हैं जिनमें शिवम त्रिपाठी, एवं मुकेश अवस्थी है। 


Previous Post Next Post