भाजपा अमीरों की सरकार है, इसे गरीबों से कोई मतलब नहीं- प्रियंका गांधी


लखनऊ( मानवी मीडिया) लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्र की रिहाई पर कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि सैकड़ों लोगों के सामने जिस मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचला, मोदी जी ने उस मंत्री को मंच पर बिठाया। अब मंत्री का बेटा रिहा हो गया है। अपराधी का बाप आज भी मंत्री है और अपराधी को रिहा कर दिया। जो किसान मारे गए, उनका क्या होगा? कांग्रेस महासचिव ने गोविंद नगर विधानसभा में आयोजित महिला शक्ति गर्जना में उन्होंने लोगों से संवाद किया और उत्तर प्रदेश में व्याप्त समस्याओं पर बात करते हुए प्रदेश के विकास के लिए कांग्रेस द्वारा तैयार किए गए रोडमैप को साझा किया। उन्होंने कहा कि मैं आपसे कह रही हूं जागो, तुम्हें गुमराह किया जा रहा है। आप अच्छी तरह जानते हैं कि परिस्थितियां क्या हैं? महंगाई, बेरोजगारी, शिक्षा आपकी समस्या है। आपका शहर छोटे बिजनेस का शहर है। एक समय यहां लेदर की इंडस्ट्री बहुत बड़ी थी। आप सब हमारे देश की रीढ़ हैं। लेकिन पिछले पांच साल में आपके लिए कुछ नहीं हुआ। कानपुर छोटे-मझोले व्यापारियों, दुकानदारों का शहर है। यहाँ का व्यवसाय इस देश की रीढ़ की हड्डी है। लेकिन बीते पांच साल में सरकार ने इस शहर के उद्योग धंधों को लेकर कुछ नहीं किया। 

भाजपा शहादत का मतलब नहीं समझती’

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मेरे परिवार के लोग देश के लिए सेवा करते करते शहीद हुए, लेकिन उनको भाजपा वाले जलील करते हैं। क्योंकि इनको शहादत का मतलब नहीं पता है। ये लोग इस जज्बात को नहीं समझते हैं। वह कहते हैं कांग्रेस ने 70 साल में क्या बनाया? कांग्रेस ने बनाया नहीं तो आप बेचते क्या? उन्हीं संस्थाओं से आपको रोजगार मिलता था। रेलवे और बीएचईएल जैसे संस्थान जो रोजगार देते थे, उन्हें बेचा जा रहा है। 

इस सरकार में महिलाओं के साथ अपराध चरम पर

उन्होंने कहा कि अब जब चुनाव आ गए हैं, तब इस सरकार को रोजगार देने, महिलाओं के लिए काम करने की याद आ रही है। हमने महिलाओं को सशक्त करने की बात की तो सब पार्टियां घोषणाएं करने लगीं। आज एक महिला से मिली वह इतना रो रही थी। उसकी 19 साल की बेटी का बलात्कार हुआ है। उसे न्याय नहीं मिल रहा है। वह महिला कह रही है कि ष्डेढ़ महीने पहले मेरी बेटी का बलात्कार हुआ। उसे मार डाला। मैं बुलाती हूं, मैं पुकारती हूं, मेरी बेटी आती नहीं।ष् पूरे प्रदेश में वह अकेली मां नहीं है। प्रदेश भर की बेटियों के साथ यही हो रहा है। मैं अनेक माताओं से मिली हूं, जिनकी बेटियों के साथ अन्याय हुआ, बलात्कार के बाद मार डाला गया, उनको न्याय नहीं मिला। 

धर्म और जाति अन्य राजनीतिक दलों का मुद्दा

उन्होंने कहा कि आज छोटे-मझोले व्यवसायी संकट में हैं, सरकार ने व्यापारियों को राहत देने के बजाय नोटबंदी दी, जीएसटी की परेशानी दी। कालाधन वापस तो नहीं आया लेकिन नोटबंदी ने व्यापारियों की कमर जरूर तोड़ दी। सारे उद्योग और छोटे बिजनेस संकट में है। सरकार ने नोटबंदी की। आपसे कहा कि काला धन आएगा। आपने काला धन देखा? उससे किसे फायदा हुआ? भाजपा की सरकार चाहे केंद्र की हो या राज्य की, यह अमीरों के लिए चल रही है। बजट आया उसमें आपके लिए कुछ नहीं है। धर्म और जाति ही अन्य दलों के लिए राजनीति का मुद्दा है। सारे राजनीतिक दल सिर्फ जाति और धर्म के नाम वोट मांग रहे हैं। क्योंकि उन्हें मालूम है कि पांच सालों का काम दिखाने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि उन्हें जाति धर्म के नाम पर वोट मिल जाएगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपने इन्हें जवाबदेह नहीं बनाया। उन्होंने कहा कि  किसी नेता का धर्म इतना बड़ा नहीं होता कि वह जनता की सेवा न करे। सबसे बड़ा धर्म सेवा है। कोई धर्म यह नहीं सिखाता कि लोगों का बंटवारा करो। सब धर्म यही सिखाते हैं कि सेवा सर्वोपरि है। जो आपके सामने आए उससे कहो कि सेवा करके दिखाओ, बताओ कि बीते।  

  देश पर नोटबंदी, जीएसटी थोपी गई

उन्होंने कहा कि लोगों की समस्याओं से इस सरकार को कोई मतलब नहीं है।  इसने आपको एक बोरा राशन पकड़ा दिया। वे आपको अपने पैरों पर खड़े नहीं होने देना चाहते। वे चाहते हैं कि आप अपने पैरों पर खड़े न हों। जिस दिन आप सक्षम हो जाएंगे, उनसे सवाल पूछेंगे। मैं चाहती हूं कि अब आप सवाल पूछना शुरू करें। क्योंकि यह नहीं चाहते हैं कि आपका विकास हो, आप आत्मनिर्भर बनें। आप आत्मनिर्भर बनेंगे तो इन्हें जवाबदेह बनना पड़ेगा। देश पर नोटबंदी थोंपी गई, जीएसटी थोपी गई। लेकिन व्यापारियों का लोन माफ़ नहीं हुआ, बिजली बिल माफ़ नहीं हुआ, कोरोना काल में भी सरकार ने कोई छूट नहीं दी। उन्होंने कहा कि एक समय कानपुर दिल्ली से भी बड़ा होता था, लेकिन धीरे धीरे यहां के उद्योग धंधे ख़त्म किए गए। आज उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा नौजवान बेरोजगार हैं, 12 लाख सरकारी पद खाली पड़े हैं, लेकिन सरकार उन्हें भर नहीं रही है। जो छोटे बिजनेसमैन हैं, आपको पूछना चाहिए कि आपकी क्या गलती थी? आप पर नोटबंदी और जीएसटी क्यों थोपी गई? कानपुर में बड़े-बड़े उद्योग थे। आपके लिए कोई अडानी-अंबानी रोजगार नहीं बनाता। यही छोटे उद्योग रोजगार देते हैं। उसे खत्म कर दिया। 

उन्होंने कहा कि मैं ललितपुर गई, वहां खाद की इस कदर किल्लत थी कि किसानों खाद नहीं मिल रही थी। एक किसान ने खाद की लाइन में खड़े खड़े दम तोड़ दिया। उन्होंने कहा कि सारा हुनर है इस उत्तर प्रदेश में, इसे बचाइए, यह बर्बाद हो रहा है। अब यह बर्बादी बर्दाश्त के बाहर है, इसे बदलिए, चुनाव में आने वाले हर नेता से विकास की बात कीजिए। उन्होंने कहा कि कानपुर की 50 बस्तियों को कांग्रेस की सरकार बनने पर मालिकाना हक़ दिया जाएगा। हमने अपने घोषणापत्र शक्ति विधान, भर्ती विधान और उन्नति विधान में उत्तर प्रदेश का विकास कैसे होगा, इसका खाका बनाकर दिया है। हम आपके विकास के बारे में सोच रहे हैं, इसलिए कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों को वोट दीजिए और प्रदेश में एक नई राजनीति की शुरुआत कीजिए। 

प्रियंका गांधी ने रोड शो और जनसंपर्क किया

गोविंदनगर में आयोजित महिला शक्ति गर्जना कार्यक्रम से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी दोपहर में चकेरी एयरपोर्ट से कांग्रेसी प्रत्याशियों और वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ ने वह सबसे पहले महाराजपुर विधानसभा से कांग्रेस के प्रत्याशी कनिष्क पांडे की सभा में पहुंचीं। वहां उन्होंने लोगों को कांग्रेस की नीतियों और चुनावी घोषणा पत्र से अवगत कराने के साथ समर्थन की अपील की। अपने वाहन की छत से प्रियंका गांधी कभी हाथ हिलाकर, तो कभी हाथ जोड़कर सड़क पर उमड़े जनसैलाब का अभिवादन करती रहीं। वहीं, उत्साहित जनसैलाब भी प्रियंका नहीं यह आंधी है, शहीद की पौत्री व बेटी जिंदाबाद के का जयघोष करता रहा।

महराजपुर की सभा में ही कल्याणपुर से कांग्रेस प्रत्याशी नेहा तिवारी को बुलाया गया था। नेहा तिवारी ने प्रियंका गांधी को फरसा भेंट कर उनका स्वागत किया। रोडशो में जनसैलाब उमड़ आया, तकरीबन डेढ़ किमी की दूरी में कहीं पैर रखने की जगह नहीं मिल रही थी। इसके बाद उन्होंने किदवई नगर में कांग्रेस प्रत्याशी अजय कपूर के समर्थन में वोट करने की अपील की। किदवई नगर में उन्होंने कहा कि मैं रास्ते में आ रही थी, वहां सैकड़ों टन कूड़ा कचड़ा पड़ा था। यह सरकार है, जो साफ-सफाई नहीं करा पा रही है। यह अमीरों की सरकार है, इसे गरीबों से कोई मतलब नहीं है। इसलिए इसे हटाने के लिए कांग्रेस को जिताएं।



Previous Post Next Post