सर्वाधिक वादों का निस्तारण कर ,समझौता व अर्थदण्ड राशि के साथ उ0 प्र0 देश में प्रथम स्थान पर:: जितेंद्र कुमार सिंह

 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव,  जितेन्द्र कुमार सिंह

ने प्रेस प्रतिनिधियों को किया सम्बोधित

11 सितम्बर को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 20 लाख

से अधिक वादों का हुआ निस्तारण

सर्वाधिक वादों का निस्तारण कर रूपये 800 करोड़ से अधिक की समझौता व अर्थदण्ड राशि के साथ उत्तर प्रदेश राज्य

देश में प्रथम स्थान पर

देशव्यापी अभियान आगामी 02 अक्टूबर से 14 नवम्बर, 2021 के मध्य मनाया जायेगा ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ के रूप में

अभियान का मुख्य उद्देश्य जनसामान्य को विधिक सहायता पहुंचाना और राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यों, लाभ एवं प्रक्रिया

के प्रति जागरूक करना है  --जितेन्द्र कुमार सिंह

लखनऊ: (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव, जितेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि गत् 11 सितम्बर, 2021 को प्रदेश के समस्त न्यायालयों एवं न्यायाधिकरणों में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 20 लाख से अधिक मुकदमों का निस्तारण करते हुये रूपये 800.60 करोड़ से अधिक की धनराशि का समायोजन कराया गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश विगत माह जुलाई, 2021 में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में प्राप्त स्थान की भांति ही इस बार भी सर्वाधिक वादों का निस्तारण कर देश में प्रथम स्थान पर रहा है।

 सिंह आज जवाहर भवन में तृतीय तल स्थित अपने कार्यालय कक्ष में प्रेसवार्ता कर रहे थे। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में प्री-लिटिगेशन वादों के रूप में बैंक वसूली के 76669 वादों का निस्तारण करते हुये 4,17,60,67,279 रूपये का समायोजन कराया गया। उत्तर प्रदेश विद्युत बिल से सम्बन्धित 67813 वादों का निस्तारण करते हुये 4,04,81,770 रूपये का समायोजन, श्रम न्यायालय के 83888 वादों का निस्तारण करते हुये 18,51,61,981 रूपये का समायोजन, मोटर दुर्घटना अधिनियम के अन्तर्गत 4590 वादों का निस्तारण करते हुए 1,64,23,35,608 का समायोजन, चेक बाउंस के 3128 वादों का निस्तारण करते हुये 30,24,65,322 रूपये का समायोजन एवं राजस्व के 522653 मुकदमों का निस्तारण करते हुये 18,16,12,122 रूपये का समायोजन किया गया।  

इसके अतिरिक्त समनीय अपराधों के कुल 391413 वाद निस्तारित किये गये। उ0प्र0 भू-सम्पदा नियामक प्राधिकरण के कुल 75 वाद निस्तारित करते हुये 19.82 करोड़ रूपये से अधिक का समायोजन किया गया। राज्य उपभोक्ता प्रतितोष  आयोग एवं विभिन्न जिला विधिक सेवा प्रतितोष आयोग के कुल 30 वादों का निस्तारण किया गया। इस प्रकार लोक अदालत के दौरान कुल 2039843 वाद रूपये 8,00,60,28,736 की समझौता धनराशि के साथ निस्तारित किये गये।

आज प्रेसवार्ता के दौरान  सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में आगामी 02 अक्टूबर, 2021 से 14 नवम्बर, 2021 के मध्य राष्ट्रीय स्तर पर ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ मनाया जा रहा है। इस देशव्यापी अभियान का मुख्य उद्देश्य जनसामान्य को विधिक सहायता एवं शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना है। साथ ही जनसामान्य को राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यों, उनसे होने वाले लाभ एवं प्रक्रिया के प्रति जागरूक करना है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक