शहरी/ग्रामीण क्षेत्र के युवक/युवतियां उद्योग स्थापित हेतु 25 लाख ऋण प्राप्त कर स्वरोजगार स्थापित करने का सुनहरा अवसर

 प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत शहरी/ग्रामीण क्षेत्र के युवक/युवतियां उद्योग स्थापित हेतु 25 लाख ऋण  प्राप्त कर स्वरोजगार स्थापित करने का सुनहरा अवसर

पं0 दीन दयाल ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत लाभार्थियों को अधिकतम 13 प्रतिशत तक ब्याज उपादान का लाभ भी प्रदान किया जायेगा

लखनऊ (मानवी मीडियाउपायुक्त उद्योग जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र, लखनऊ मनोज कुमार चौरसिया ने बताया कि भारत सरकार द्वारा अधिक से अधिक स्वरोजगार/रोजगार सृजन कराने हेतु प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पी0एम0ई0जी0पी0) संचालित है, जिसके अन्तर्गत शहरी/ग्रामीण क्षेत्र के युवक/युवतियां उद्योग स्थापना हेतु रू0 25.00 लाख, सेवा क्षेत्र हेतु रू0 10.00 लाख तक का ऋण धनराशि प्राप्त कर स्वरोजगार स्थापित कर सकते हैं। योजनान्तर्गत इच्छुक युवक/युवतिया वेबसाइट www.pmegp e portal पर दिनांक 29.09.2021 तक ऑनलाइन ऋण आवेदन कर सकते हैं। योजना की विस्तृत जानकारी उक्त वेबसाइड या कार्यालय जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्हसाहन केन्द्र, 08 कैण्ट रोड, कैसरबाग, लखनऊ से कोविड-19 के मानक अनुसार मास्क, दो गज दूरी आदि का पालन करते हुए किसी भी कार्य दिवस में सम्पर्क स्थापित कर जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

 मनोज कुमार चौरसिया ने बताया कि आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए, आवेदक को सेवा क्षेत्र की योजना के लिए रू0 5.00 लाख एवं उद्योग स्थापनार्थ रू0 10.00 लाख से अधिक की परियोजना हेतु कक्षा 08 उत्तीर्ण होना अनिवार्य है, आवेदन-पत्र ऑनलाइन ही स्वीकार होंगे।

उपादान (सब्सिडी) शहरी क्षेत्र हेतुः-सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को 15 प्रतिशत एवं स्पेशल कैटेगरी-अनु0 जाति/जनजाति, अन्य पिछड़ावर्ग, अल्पसंख्यक, महिलायें, भूतपूर्व सैनिक, विकलांग हेतु 25 प्रतिशत मार्जिन मनी सब्सिडी उपादान अनुमन्य है। ग्रामीण क्षेत्र हेतु सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को 25 प्रतिशत एवं स्पेशल कैटेगरी-अनु0 जाति/जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, महिलायें, भूतपूर्व सैनिक, विकलांग हेतु ग्रामीण क्षेत्र हेतु 35 प्रतिशत मार्जिन मनी सब्सिडी उपादान अनुमन्य है तथा पं0 दीन दयाल ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत लाभार्थियों को अधिकतम 13 प्रतिशत तक ब्याज उपादान कालाभ भी प्रदान किया जाता है।

मनोज कुमार चौरसिया ने बताया कि योजनान्तर्गत उद्योग स्थापना हेतु  अधिकतम परियोजना लागत रू0 25.00 लाख एवं सेवा क्षेत्र हेतु परियोजना लागत रू0 10.00 लाख निर्धारित की गयी है । उन्होंने बताया कि कम लागत वाली परियोजनाओं को वरीयता दी जायेगी।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक