यूपी एसटीएफ द्वारा एसएससी की आनलाईन परीक्षा में नकल कराने वाले 7 लोगों को किया गिरफ्तार

लखनऊ (मानवी मीडिया)कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित एसएससी (जीडी) की आनलाईन परीक्षा में अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर साल्वर बैठाने एवं अन्य माध्यमों से विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर अनुचित तरीके से परीक्षा की शुचिता भंग करने वाले साल्वरों, गैंग लीडरों एवं अभ्यर्थियों सहित कुल 07 व्यक्तियों को एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किया गया।

एस0टी0एफ0 उ0प्र0 को दिनांक 17-01-2023 को आयोजित एसएससी (जीडी) की आन लाइन परीक्षा में अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर साल्वर बैठाने एवं अन्य माध्यमों से विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर अनुचित तरीके से परीक्षा की शुचिता भंग करने वाले साल्वरों, गैंग लीडरों एवं अभ्यर्थियों सहित कुल 07 व्यक्तियों को प्रदेश के विभिन्न जनपदों से गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई। 

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-

1- विवेक कुमार सिंह पुत्र अमरेन्द्र सिंह नि0 ग्राम गोच्छी कुसहर, थाना-केसरिया, जनपद पूर्वी चम्पारण (बिहार) (साल्वर)

2- केषवानन्द पुत्र राम कैलाष नि0 जूड़ापुर दादू थाना सोरांव, जनपद प्रयागराज। (मूल अभ्यर्थी)

3- मनोज कुमार झा पुत्र राम सगनू झा नि0 ग्राम व पोस्ट भखारी, थाना रोसड़ा, समस्तीपुर (बिहार) (साल्वर)

4- राकेष कुमार यादव पुत्र स्व0 रामअवध यादव नि0 ग्राम बड़का ढकाईच, बक्सर बिहार (साल्वर)

5- गुड्डू यादव पुत्र धूपई यादव ग्राम ओड़वलिया थाना-सहजनवा, गोरखपुर ( मूल अभ्यर्थी)

6- मनोज यादव पुत्र हरिराम यादव नि0 ग्राम भेउरा, पोस्ट उनवल, थाना खजनी, गोरखपुर। (मूल अभ्यर्थी)

7- अच्युतानन्द यादव पुत्र जितेन्द्र यादव नि0 दोनखर वार्ड नं0 05, थाना बांसगॉव, गोरखपुर। (गैंग लीडर) 

कुल बरामदगीः-

1- 04 अदद प्रवेष पत्र। (02 अदद कूटरचित)

2- 08 अदद मोबाइल।

3- 11 अदद आधार कार्ड। ( 06 अदद कूटरचित)

4- 03 अदद निर्वाचन कार्ड।

5- 01 अदद ई-श्रम कार्ड।

6- 18 अदद मिक्सिंग फोटो।

7- 01 एटीएम कार्ड।

8- 02 अदद पैन कार्ड।

9- 01 अदद डीएल।

10- 01 अदद एनपीएस कार्ड।

11- रू0 6,680 नगद।

गिरफ्तारी का स्थान दिनांक व समयः-

परीक्षा केन्द्र सिन्को लर्निग सेन्टर टेढ़ी पुलिया कुर्सी रोड लखनऊ दिनांक 17-01-2023 

दिनांक 10-01-2023 से उत्तर प्रदेष के 13 जनपदों में कुल 61 परीक्षा केन्द्रों में कर्मचारी चयन आयोग द्वारा एसएससी (जीडी कान्सटेबल) परीक्षा-2022 आयोजित है। जिसे जिसे शुचितापूर्ण, पारदर्शी, नकल विहीन तरीके से कराये जाने हेतु एसटीएफ उ0प्र0 की विभिन्न टीमों/इकाईयों को निर्देशित किया गया था। जिसके अनुपालन में सभी टीमों/इकाईयों द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी। 

 लाल प्रताप सिंह, पुलिस उपाधीक्षक, एस0टी0एफ0 के पर्यवेक्षण में अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी, इसी क्रम में एसटीएफ फील्ड इकाई, गोरखपुर के प्रभारी श्री सत्यप्रकाष सिंह को सूचना प्राप्त हुई कि जनपद अयोध्या में तैनात आरक्षी अच्युतानन्द यादव व उसका साथी गुड्डू यादव तथा प्रयागराज निवासी सलमान व अमित द्वारा एसएससी (जीडी) परीक्षा में साल्वर बैठाने का काम किया जा रहा है। इस सूचना पर मुख्य आरक्षी धीरेन्द्र यादव एवं आरक्षी मोहित गौड़ द्वारा अभिसूचना संकलन का कार्य प्रारम्भ किया गया, जिससे ज्ञात हुआ कि उपरोक्त गैंग द्वारा दिनांक 17-01-2023 को परीक्षा केन्द्र सिन्को लर्निग सेन्टर टेढ़ी पुलिया कुर्सी रोड लखनऊ में मूल अभ्यर्थियों के स्थान पर साल्वरों को बैठाकर परीक्षा दिलाया जायेगा। इस सूचना पर कार्यवाही हेतु निरीक्षक श्री आदित्य कुमार सिंह के नेतृत्व में मु0आ0 सुनील कुमार सिंह एसटीएफ लखनऊ व मु0आ0 महेन्द्र प्रताप सिंह, अखिलेष, नसिरूद्दीन, विनय कुमार सिंह, एसटीएफ गोरखपुर व उ0नि0 आषुतोष कुमार त्रिपाठी के नेतृत्व में एसटीएफ टीम गठित की गयी। टीम द्वारा उक्त स्थान पर पहॅुचकर साल्वर विवेक कुमार सिंह को परीक्षा केन्द्र के अन्दर से एवं मूल अभ्यर्थी केषवानन्द को परीक्षा केन्द्र के बाहर से तथा मनोज कुमार झा आदि उपरोक्त व्यक्तियों को इसी परीक्षा केन्द्र के बाहर से गिरफ्तार किया गया, जिनके पास से उपरोक्त बरामदगी हुई। 

गिरफ्तार अभियुक्त अच्युतानन्द ने पूछताछ पर बताया कि वह पुलिस विभाग में आरक्षी के पद पर जनपद अयोध्या में तैनात है। उसके द्वारा ही साल्वर मनोज कुमार झा व राकेष कुमार यादव से सम्पर्क करके तथा मूल अभ्यर्थियों से प्रवेष पत्र, आधार कार्ड तथा फोटो प्राप्त करके साल्वर व मूल अभ्यर्थी की फोटो मिक्सिंग कराकर प्रवेष पत्र पर लगायी जाती थी। अभ्यर्थियों से पैसा प्राप्त कर साल्वरों को प्रति परीक्षा 20 हजार रूपये देता था।  

साल्वर मनोज कुमार द्वारा बताया गया कि उसने अच्युतानन्द के कहने पर दिनांक 11-01-2023 को परीक्षा केन्द्र मेट्रो नेटवर्क सल्यूषन खरगापुर, गोमतीनगर, लखनऊ पर मूल अभ्यर्थी जियाउल हुसैन के स्थान पर तथा दिनांक 16-01-2023 को परीक्षा केन्द्र योर लिटिल एंजल होम सेक्टर डी, एलडीए कालोनी, कानपुर रोड में मूल अभ्यर्थी सुजीत कुमार के स्थान पर परीक्षा दिया है। 

साल्वर राकेष कुमार ने बताया कि मैं भी अच्युतानन्द के कहने पर पूर्व में दिनांक 22-08-2022 को अभ्यर्थी गुड्डू यादव उपरोक्त के स्थान पर परीक्षा केन्द्र डीआईटी एजुकेषन सेन्टर कुर्सी रोड लखनऊ में तथा दिनांक 16-01-2023 को परीक्षा केन्द्र यूबी आनलाइन सल्यूषन खरगापुर, गोमतीनगर, लखनऊ में मूल अभ्यर्थी आफताब आलम के स्थान पर परीक्षा दे चुका हूॅ। दिनांक 17-01-2023 को परीक्षा केन्द्र आईओएन डिजीटल जोन, आईडी जेड, प्रबन्ध नगर में मूल अभ्यर्थी विपिन के स्थान पर परीक्षा देने वाला था। 

गिरफ्तार अभियुक्त विवेक कुमार सिंह ने पूछताछ पर बताया कि अमित फोटो बनाने का काम करता है। जिसकी दोस्ती सलमान निवासी प्रयागराज से है। सलमान के कहने पर अमित ने केषवानन्द की फोटो के स्थान पर मेरी फोटों मिक्स करके प्रवेष पत्र व आधार कार्ड बनाया था। जिसके बाद मै केषवानन्द के स्थान पर परीक्षा दे रहा था, जिसके बदले में मुझे 30 हजार रूपये मिलता।  

गिरफ्तार अभियुक्तों के विरूद्ध थाना विकासनगर, लखनऊ में मु0अ0सं0 14/2023 व मु0अ0सं0 15/2023 धारा 115, 419, 420, 467, 468, 471, 120बी, भादवि का अभियोग पंजीकृत कराया गया है। अग्रिम विविक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जायेगी।

Previous Post Next Post