सपा का झंडा गुंडागर्दी का प्रतीक है: केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश में दो जगह विधानसभा और एक सीट पर लोकसभा के उप चुनाव हो रहे हैं। सपा ने तीनों उपचुनाव को जीतने का दावा किया है। इसके जवाब में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि जनता एक बार फिर समाजवादी पार्टी को समाप्तवादी पार्टी बना देंगी। अखिलेश यादव का अंहकार टूटेगा। उनके हवा हवाई दावे की हवा निकल जायेगी। क्योंकि सपा का झंडा गुंडागर्दी का प्रतीक है।

एक विशेष वार्ता में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सपा मुखिया अखिलेश यादव का भ्रम मैनपुरी की जनता भी तोड़ेगी। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में जब मुलायम सिंह थे भाजपा का कोई बड़ा नेता प्रचार करने नहीं गया। इसके आलावा बसपा के गठबंधन के बावजूद वो बड़े अंतर से नहीं जीते। मैनपुरी के गरीब लोग जानते हैं कि सपा के हाथों में उनकी बरबादी है, जबकि भाजपा के साथ खुशहाली होगी। रघुराज शाक्य जमीनी नेता है। सपा का इतिहास मैनपुरी की जनता जानती है। सपा का झंडा गुंडागर्दी का प्रतीक है। जमीन, मकान और बूथों पर कब्जा इनका इतिहास रहा है। चुनाव में इनकी हार सुनिश्चित है।

मैनपुरी में शिवपाल यादव का काफी दबदबा है, उनसे निपटने के लिए भाजपा की क्या रणनीति है, इस सवाल पर केशव मौर्य ने कहा कि शिवपाल जब से राजनीति में आए तब से भाजपा के विरोधी रहे हैं। उनके विरोध के बाद भाजपा चुनाव जीतती रही सरकार बनाती रही है। सपा का युग खत्म हो गया है। मुलायम सिंह जैसी क्वालिटी अब उनके परिवार में किसी सदस्य के पास नहीं है। सपा के तमाम वरिष्ठ नेता जब उनसे मिलने जाते हैं, तो तीन चार घंटे में बिना मिले चले आते हैं। यह चरित्र कोई राजनीतिक कार्यकर्ता बर्दाश्त नहीं करेगा।

यह पूछने पर कि अभी हाल के गोला उपचुनाव में मुस्लिमों के कुछ बूथों पर भाजपा को बढ़त मिली है, उप मुख्यमंत्री केशव ने कहा कि यदुवंशी हों या मुस्लिम, सबको पता है की सपा झूठ बोलती है। इन्होंने न तो मुस्लिमों का विकास किया न ही यदुवंशियों का। इन्होने सिर्फ अपने परिवार का ही विकास किया है। हिंदू को मुस्लिम से लड़ाने से वोट नहीं मिलते। वह यादव और मुस्लिम को अपना बंधुआ वोट बैंक समझते हैं। वह अब जाग गया, पहचान गया है इसीलिए भाजपा को वोट दे रहा है। इसीलिए सपा धीरे धीरे खत्म हो रही है।

एक दूसरे सवाल के जवाब में मौर्य ने कहा कि 1995 का गेस्ट हाउस कांड अभी तक कोई भूला नहीं है। एक दलित बेटी का अपमान सपा ने किया। भाजपा ने लड़ाई लड़ी। इससे भाजपा के प्रति लोगों का भरोसा बढ़ा है। भाजपा की विजय यात्रा चल रही है।

रामपुर में आजम का नाम वोटर लिस्ट से हटाने की मांग भाजपा ने की उसी तरह सपा गठबंधन ने खतौली से विक्रम सैनी का नाम हटाने की है, इसके जवाब में मौर्य ने कहा कि यह चुनाव आयोग का विषय है इस पर टिप्पणी करना उचित नहीं है।

अखिलेश यादव अब कन्नौज से चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं, इस पर केशव ने कहा कि अभी 2019 में कन्नौज से अखिलेश यादव की पत्नी भाजपा के उम्मीदवार सुब्रत पाठक से चुनाव हार चुकी हैं। इनके गढ़ आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, बदायूं सब जगह कमल खिला चुका है। अब मैनपुरी में खिलने जा रहा है।

क्या लगता है कि सपा के कोर वोटर यादव और दलित वोटर को भाजपा अपने पाले में लाने में सफल रहेगी, इसके जवाब में उन्होंने कहा कि हम सबका साथ सबका विकास कर रहे हैं। सबका आशीर्वाद हमें मिलेगा। जो 2022 में भ्रमित होकर इनके साथ चले गए थे, वो तेजी से हमारे साथ आ रहे हैं। इसी कारण हम आजमगढ़ और रामपुर के उपचुनाव को जीते हैं।

केशव मौर्या कहते हैं कि 2022 के विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा आजमगढ़, रामपुर और गोला सीट पर जीत दर्ज की है। अब खतौली, रामपुर और मैनपुरी जीतने जा रहे हैं। जनता चुनाव लड़ रही है। कमल के फूल में सुरक्षा,सम्मान और विकास है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में जो दो जगह विधानसभा और एक सीट पर लोकसभा के उप चुनाव हो रहे हैं, उनमें से दो सीटें समाजवादी पार्टी की रही हैं। ये रामपुर की विधानसभा और मैनपुरी लोकसभा सीटें हैं। वहीं खतौली सीट भाजपा के ही कब्जे में रही है। भारतीय जनता पार्टी ने इन तीनों सीटों को जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है। पार्टी ने उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य को इस उपचुनाव में स्टार प्रचारक के रूप में उतारा है।

Previous Post Next Post