अलीगढ़ में मंदिर से चोरी करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार


अलीगढ़ (
मानवी मीडिया कोतवाली थाना क्षेत्र के मोहल्ला आशिक अली के चामुंडा देवी मंदिर में हुई चोरी का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से चोरी की गई कीमती मूर्ति और मंदिर का अन्य सामान बरामद किया है।

आरोपियों नें मंदिर का ताला तोड़कर देवी मां धातु की मूर्ति, घंटे समेत कई कीमती चीजें चोरी की थी। जिसके बाद मंदिर संचालकों की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया था और पुलिस लगातार आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही थी। रविवार को पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आरोपियों को दबोच लिया।

मूर्ति के टुकड़े कर बेचने वाले थे आरोपी

कोतवाली के नगला आशिक अली में 30 अक्टूबर को चामुंडा वाली मां के मंदिर में चोरी हुई थी। जिसमें मूर्ति, धातु के घंटे और कई सामान चोरी हुआ था। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें शराफत अली की दुकान से पप्पी ढ़ाबे की तरफ से गिरफ्तार किया है।

आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद जब पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने सारी घटना कबूल की और चोरी किया हुआ माल भी बरामद कराया। आरोपियों ने देवी मां की मूर्ति के टुकड़े कर दिए थे और इसके बाद वह इसे बेचने वाले थे। पुलिस ने मूर्ति के टुकड़े बरामद किए हैं।

नाबालिग भी है चोरी में शामिल

चोरी की घटना अंजाम देने वालों में जहां दो आरोपी बालिग और पेशेवर चोर बताए जा रहे हैं, वहीं एक आरोपी नाबालिग है। पुलिस ने चोरी के मामले में नगला आशिक भुजपुरा निवासी मोना उर्फ फैसल पुत्र अली शेर, भुजपुरा निवासी नदीम उर्फ भांगड़ा पुत्र रहीश को गिरफ्तार किया है।

इन दोनों के अलावा तीसरा आरोपी नाबालिग है। तीनों आरोपियों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जिसके बाद इन्हें जेल भेजा जाएगा, वहीं नाबालिग को बाल सुधार गृह भेजा जाएगा। कार्रवाई करने वाली पुलिस टीम में इंस्पेक्टर यतींद्र प्रताप सिंह, एसआई कपिल सोलंकी, हेड कांस्टेबल मो. जमाल, कांस्टेबल कन्हैयालाल, रोहित और धर्मेंद्र शामिल रहे।

Previous Post Next Post