अन्तर्राज्यीय असलहा तस्कर गैंग के दो सक्रिय सदस्य गिरफ्तार

लखनऊ (मानवी मीडिया)अन्तर्राज्यीय असलहा तस्कर गैंग का पर्दाफाश, गैंग के दो सक्रिय सदस्य गिरफ्तार, 07 अदद सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल 32 बोर व 13 मैगज़ीन बरामद

दिनाक 25-10-2022 को एस0टी0एफ0, उ0प्र0 को पूर्वांचल के शातिर असलहा तस्कर गैंग का पर्दाफाश करते हुये इस गैंग के 02 सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार करते हुये इनके पास से 07 अदद सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल 32 बोर व इसकी 13 अदद मैगजीन बरामद करने मेें उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई। 

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-

1- देवेश्वर शुक्ला पुत्र कृपाशंकर शुक्ला निवासी यशवन्त सिंह का पुरा, थाना पडरी, जनपद मिर्जापुर।

2- अम्बुज पुत्र रामअनुज निवासी बसुहरा, थाना हलिया, जनपद मिर्जापुर। 

बरामदगीः-

1- 7 अदद सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल 32 बोर 

2- 13 अदद सेमी आटोमेटिक पिस्टल 32 बोर की मैगजीन 

3- 3 अदद मोबाइल फोन 

गिरफ्तारी का स्थान/दिनांकः-

पुराना आर0टी0ओ0 तिराहा-आशापुर मार्ग पर, थाना सारनाथ, जनपद वाराणसी। दिनांक-25-10-2022, समय 12.15 बजे अपराह्न। 

एस0टी0एफ0, उत्तर प्रदेश को विगत काफी दिनों से पूर्वांचल में असलहा तस्करों के सक्रिय होने की सूचनायें प्राप्त हो रहीं थी। इस सम्बन्ध में एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई वाराणसी को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था, जिसके अनुक्रम में निरीक्षक श्री अनिल कुमार सिंह, एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई, वाराणसी के नेतृत्व में एक टीम गठित करते हुये अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।

अभिसूचना संकलन के दौरान ज्ञात हुआ कि थाना सारनाथ क्षेत्रान्तर्गत पुराना आर0टी0ओ0 तिराहा-आशापुर मार्ग पर भारी मात्रा में अवैध असलहों के साथ 02 असलहा तस्कर मौजूद हैं और किसी को असलहा देने वाले हैं, यदि शीघ्रता की जाये तो पकडद्वे जा सकते हैं। इस सूचना पर एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई वाराणसी टीम द्वारा मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर उपरोक्त दोनों असलहा तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया, जिनके पास से उपरोक्त बरामदगी की गयी। 

गिरफ्तार अभियुक्तों ने संयुक्त पूछताछ के दौरान बताया कि वे दोनों कुश्ती लडते थे और इसका वीडियो बनाकर फेसबुक पर अपलोड करते थे। इसी फेसबुक पर वीडियो को देखकर इसी वर्ष माह जुलाई मंे विपिन दूबे पुत्र कौशल चन्द दूबे निवासी खानपुर, थाना मेजा, जनपद प्रयागराज ने उनसे सम्पर्क कर दोस्ती बढाई और दोस्ती के दौरान विपिन दूबे ने बताया कि असलहा तस्करी में काफी पैसा है तुम दोनों भी काफी पैसा कमा सकते हो। वे दोनों पैसे के लालच में आकर विपिन दूबे से मिलकर असलहा तस्करी का काम करने लगे। विपिन दूबे इन दोनों को पैसा देकर मध्य प्रदेश के जनपद बडवानी के एक सरदार (नाम नही पता) के पास भेजता था। ये दोनों पैसा देकर सरदार से असलहा ले लिया करते थे और मध्य प्रदेश से उन असलहों को लाकर विपिन दूबे को दे दिया करते थे। इसके बदले में विपिन दूबे 07 हजार रूपये प्रति पिस्टल के हिसाब से इन्हें पैसा दे दिया करता था। इस प्रकार ये दोनों अबतक कई असलहा लाकर विपिन दूबे को दे चुके हैं। इसी क्रम में दो दिन पूर्व ये दोनों जनपद बडवानी (म0प्र0) गये थे और उसी सरदार से 07 अदद सेमी ऑटोमेटिक 32 बोर की पिस्टल और इसकी 13 अदद मैगजीन लेकर आये थे, जिसे वाराणसी में विपिन दूबे को देना था। आज इन असलहों को देने के लिये विपिन दूबे का इन्तजार कर रहे थे, कि पकड़ लिये गये।  

गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों के विरूद्ध थाना सारनाथ, कमिश्नरेट वाराणसी में धारा 3/5/25 आर्म्स एक्ट का अभियोग पंजीकृत कराया जा रहा है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जायेगी।

Previous Post Next Post