उ0प्र0 : मुठभेड़ में पकड़े गये बुजुर्ग भाजपा नेता के हत्यारोपी

वाराणसी (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बीते दिनों शराब के ठेके के पास हंगामा कर रहे अराजक तत्वों को रोकने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक बुजुर्ग नेता की हत्या के मामले में पुलिस ने क्राइम ब्रांच की मदद से दो संदिग्ध आरोपियों को मुठभेड़ के बाद रविवार को गिरफ्तार किया है।

वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट के आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि पुलिस और बदमाशों के बीच आज तड़के हुई मुठभेड़ में गोली लगने से 02 बदमाश घायल हुए हैं। घायल बदमाशों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। उन्होंने दावा किया कि इनका संबंध थाना सिगरा के जयप्रकाश नगर में एक बुजुर्ग व्यक्ति की हत्या के मामले से है।

ज्ञात हो कि भाजपा नेता पशुपति नाथ सिंह (71 साल) सिगरा थाना क्षेत्र में जेपी नगर कालोनी में रहते थे। उनके घर के पास स्थित शराब और बीयर की दुकान पर 12 सितंबर को रात में कुछ युवक नशे में उत्पात मचा रहे थे। इन्हें रोकने पर इन लोगों ने सिंह को रॉड और डंडो से बुरी तरह से पीट दिया। बीच बचाव करने आये उनके पुत्र राजन (45 साल) की भी इन लोगों ने पिटाई कर दी। जिससे बुरी तरह घायल होने पर सिंह की मौत हो गयी और राजन गंभीर रूप से घायल हो गया।

उन्होंने कहा कि इस निर्मम हत्याकांड में 17 लोगों को नामजद किया गया था। अब तक इस मामले में 08 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि लहरतारा स्थित डीआरएम ऑफिस के पीछे के इलाके में आज तड़के पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद इन्हें पकड़ा गया है। बदमाशों की पहचान वाराणसी निवासी राहुल और पवन के रूप में हुई है।

गणेश ने बताया कि राहुल के खिलाफ थाना सिगरा में पहले के भी अपराधिक मामले दर्ज हैं। ये दोनों बदमाश 307 गैंग के सदस्य हैं। वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस लगातार हत्यारोपियों को ट्रैक कर रही थी। थाना सिगरा पुलिस और क्राइम ब्रांच के संयुक्त अभियान के तहत इन्हें पकड़ा गया है।

 नोट- दीपावली के शुभ अवसर पर अपने व्यवसाय एवं संस्था के विज्ञापन हेतु संपर्क करें मो0 98384 76221

Previous Post Next Post