शिक्षक दिवस के पूर्व अवसर पर विचार संगोष्ठी आयोजित:केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर मुख्य अतिथि

लखनऊ (मानवी मीडिया)भरतीय नागरिक परिषद के तत्वावधान में 4 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर नए भारत में शिक्षक का बढ़ता नैतिक दायित्व विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया । 

       भारतीय नागरिक परिषद की महामंत्री रीना त्रिपाठी ने आज यहां बताया कि  संगोष्ठी शिक्षक दिवस के पूर्व दिवस 4 सितंबर को की गई।। संगोष्ठी कानपुर रोड स्थित फोर सीजन बैंक्विट हॉल, निकट हज हाउस में हुई ।

       संगोष्ठी में विशिष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को सम्मानित किया गया तथा नशा मुक्ति का संकल्प दिलाया गया।

  कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कौशल किशोर  ने बताया कि आज के समय में नए भारत को बनाने में शिक्षक का महत्वपूर्ण दायित्व है शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्यों को जागृत कर सकता है बड़ों का सम्मान करना परिवार में एकीकरण करना तथा समाज में व्याप्त बुराइयों से बच्चे कैसे दूर रहें यह शिक्षा प्राथमिक स्तर से लेकर डिग्री तक के स्तर तक दी जा सकती है ।शिक्षकों को प्रार्थना के पहले अपने बच्चों को अपने सभी शिक्षार्थियों को यह बताना चाहिए कि नशे से उन्हें दूर रहना चाहिए और हमेशा करने से कैसे उनके जीवन का विनाश शुरू होता है ।यदि बच्चे बचपन से ही है अपने दिमाग में बैठा लेंगे कि नशा एक बुरी चीज है तो शायद बड़े होने पर वह उससे घृणा करने लगेंगे और समाज में व्याप्त नशे का व्यापार धीरे धीरे कम हो जाएगा और एक दिन ऐसा आएगा कि भारत नशा मुक्त बन जाएगा।

     भारतीय नागरिक परिषद के संस्थापक ऑल इंडिया पावर फेडरेशन के चेयरमैन शैलेंद्र दुबे  ने उपस्थित सभी शिक्षकों को डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन चरित्र तथा मूल्यों के बारे में बताया और कहा कि शिक्षा किसी भी देश राष्ट्र के विकास के लिए उतनी ही आवश्यक है जितना व्यक्ति के जीवन में धमनियों में बहने वाला रक्त यदि रक्त शुद्ध होता है तो पूरी जीवन प्रणाली शुद्ध और सात्विक रहती है तथा लंबे समय तक चलती है उसी प्रकार यदि देश में शिक्षा प्रणाली दूरदर्शी होगी दूरगामी होगी तो निश्चित रूप से व्यक्ति का विकास और देश का विकास अपने चरम पर होगा। 

     विशेष अतिथि के तौर पर उपस्थित जूनियर इंजीनियर संगठन के जयप्रकाश  ने कहा कि हमें अपने बच्चों में एक आदर्श शिक्षक बनने के सभी गुणों का विकास करना चाहिए उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए कि वह सिर्फ इंजीनियर और डॉक्टर ना बने शिक्षक भी बने।

  वहीं उच्च शिक्षा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं डॉ अनुराधा पांडे  ने डिग्री कॉलेज स्तर तथा यूनिवर्सिटी स्तर पर नशे के खिलाफ कैंपेन चलाने का आश्वासन दिया और ज्यादा से ज्यादा बच्चों को नशा मुक्त आंदोलन अभियान कौशल का जोड़ने के लिए उपस्थित सभी शिक्षकों से कहा यदि बच्चे डिग्री के सर पर नशे से दूर रहते हैं तो निश्चित रूप से वह एक ऐसे दीपक की शुरुआत करते हैं जो देश और समाज को अपने उजाले से रोशन करेगा।

  विशिष्ठ अतिथि.. राजेंद्र सिंह,(राजू) श्री गांधी आदर्श विद्यालय, प्रधानाचार्य, ने यूनिवर्सिटी तथा उच्च शिक्षा स्तर पर युवा विद्यार्थियों को नशा मुक्त भारत बनाने के अभियान की मुहिम से जुड़ने का आश्वासन और आगरा किया। यह मुहिम ज्यादा से ज्यादा प्राइवेट स्कूलों तक पहुंचे इसका प्रयास का आश्वासन दिया।

         विभिन्न ब्लाकों के खंड शिक्षा अधिकारी , वा खंड शिक्षा अधिकारी एसोसिएशन से संजय शुक्ला बाराबंकी, राम नारायण यादव बाराबंकी तथा सरोजिनी नगर से रुद्र प्रताप यादव उपस्थित रहे।

 बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा से जुड़े हुए शिक्षक तथा बुद्धिजीवी बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

    कार्यक्रम में विद्यालयों में उपस्थित उन माताओं को सम्मानित किया गया जिसके बच्चे साफ-सुथरे आते हैं तथा रोज ही पढ़ाई के प्रति जागरूक होकर विद्यालय में उपस्थित रहते हैं। माताओं को सम्मान करने का कार्य समाज सेविका नीता खन्ना के द्वारा साड़ी देकर प्रोत्साहित किया गया सौरव सिंह मोनू के द्वारा वितरण किया गया।

   भारतीय नागरिक परिषद की महामंत्री रीना त्रिपाठी ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि  डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस के अवसर पर सभी शिक्षकों को बधाई तथा शिक्षकों के द्वारा हीशिक्षा का आदर्श देश में स्थापित होगा और देश शिक्षा के स्तर को ऊंचा करके विकसित बनेगा इसकी आशा और इस कर्तव्य की अपेक्षा मंच के माध्यम से सभी से है।

कार्यक्रम में लखनऊ सहित सीतापुर ,उन्नाव ,लखीमपुर खीरी रायबरेली ,बाराबंकी सहित कई जिलों के शिक्षकों ने प्रतिभाग किया तथा खंड शिक्षा अधिकारियों ने सभी को पुरस्कृत करके प्रोत्साहित किया। 

         नशा मुक्त समाज बनाने के अग्रदूत के रूप में शिक्षकों को नशा मुक्त बनाने का संकल्प 5 सितंबर को विद्यालय में कराने की जिम्मेदारी कौशल किशोर जी के द्वारा सौंपी गई।

      कार्यक्रम में प्रवीण अवस्थी,रेनू त्रिपाठी ,गीता वर्मा ,प्रवीण तिवारी, गौरव अवस्थी ,अरुण व्यास  का तथा ब्लॉक और विभिन्न जिले से आए हुए उपस्थित सभी  अधिकारियों का धन्यवाद भारतीय नागरिक परिषद के अध्यक्ष ओम प्रकाश अग्निहोत्री ने ज्ञापित किया।


Previous Post Next Post