लखनऊ मेट्रो के कर्मचारी ने फिर पेश की कर्तव्यनिष्ठा की मिसाल


लखनऊ (मानवी मीडिया)लखनऊ मेट्रो के सजग स्टाफ ने आज एक बार फिर अपनी कर्तव्य निष्ठा और ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए मेट्रो यात्री के स्टेशन पर छूटे हुए 11000 रुपए वापस कर दिये। इस तरह से यूपी मेट्रो अपनी लॉस्ट एंड फाउंड पॉलिसी के तहत सेवा की शुरुआत से करीब 14 लाख रुपए कैश, 500 मोबाइल एवं 93 लैपटॉप यात्रियों को सुरक्षित वापस कर चुका है। 

दरअसल, बुधवार, 31 अगस्त, 2022 को कानपुर के जाजमऊ के निवासी श्री अमिताभ अग्रवाल लखनऊ मेट्रो से सी.सी.एस. एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन आए थे। स्टेशन पर सीढ़ियों से उतरते वक्त उनकी जेब से 500 के 22 नोट यानि कुल 11 हजार रुपये गिर गए। स्टेशन की जांच के दौरान वहां तैनात सुरक्षा कर्मी की नजर जैसे ही नोटों पर पड़ी उसने तुरंत पैसों को स्टेशन कंट्रोलर के पास जमा करा दिया। अमिताभ अग्रवाल जब अपने पैसों को खोजते हुए स्टेशन पहुंचे तो औपचारिकता के बाद उन्हें सारे पैसे वापस कर दिए गए। यात्री ने मेट्रो कर्मचारियों की ईमानदारी एवं निष्ठा के प्रति आभार व्यक्त किया। लखनऊ मेट्रो की तरह कानपुर मेट्रो भी लॉस्ट एंड फाउंड पॉलिसी की तहत यात्रियों के खोए हुए सामान को उन्हें सुरक्षित वापस कर रही है।  

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्रबंध निदेशक,  सुशील कुमार ने मेट्रो स्टाफ की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा कि यात्रियों के सुरक्षित और आराम दायक सफर के साथ मेट्रो उनके सामान की भी पूरी तरह सुरक्षा सुनिश्चित करता है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि मेट्रो यात्रा का सबसे सुरक्षित और सुविधाजनक साधन होने के साथ-साथ उच्च स्तर की कार्यसंस्कृति के लिए भी संकल्पबद्ध है। 

Previous Post Next Post