रक्षा लेखा विभाग के तत्वावधान में रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (पेंशन) प्रयागराज द्वारा ‘पेंशनर आउटरिच कार्यक्रम का आयोजन

लखनऊ, (मानवी मीडिया)रक्षा लेखा विभाग के तत्वावधान में रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (पेंशन) प्रयागराज द्वारा स्पर्श (SPARSH) पेंशन पोर्टल से संबंधित ‘पेंशनर आउटरिच कार्यक्रम का आयोजन सूर्या ऑडिटोरियम लखनऊ में दिनांक 23.09.2022 को मुख्यालय मध्य कमान, लखनऊ के सहयोग से किया गया। ‘स्पर्श’ रक्षा पेंशन से संबन्धित सभी गतिविधियों हेतु एक सुरक्षित, विश्वसनीय डिजिटल पोर्टल है।

इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि  रसिका चौबे, IDAS, वित्तीय सलाहकार (डिफेंस सर्विसेस), रक्षा मंत्रालय, नई दिल्ली थी। सेना की मध्य कमान लखनऊ का प्रतिनिधित्व चीफ ऑफ स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल विवेक कश्यप, अति विशिष्ट सेवा मेडल, विशिष्ट सेवा मेडल ने किया। समारोह में  ए.एन. दास, वरिष्ठ संयुक्त महानियंत्रक, नई दिल्ली ने सहभागिता की। समारोह में  जे. पी. पाण्डेय, नियंत्रक रक्षा लेखा मध्य कमान,  एस.के. चौधरी, नियंत्रक (आर.टी.सी., लखनऊ),  हरिहर मिश्रा, एकीकृत वित्तीय सलाहकार मध्य कमान भी उपस्थित रहे। सेना मुख्यालय का प्रतिनिधित्व कर्नल वाई. के. गौतम, एस.एम. ने किया।

कार्यक्रम की शुरुआत  मुकेश सिन्हा, प्रधान नियंत्रक (पेंशन) प्रयागराज द्वारा स्वागत भाषण दिये जाने से हुई जिसमें उन्होंने सभी उपस्थित अधिकारीगण, पेंशनरों का स्वागत किया गया तथा इस कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डाला गया।

तत्पश्चात  हिमांशु त्रिपाठी, उप नियंत्रक द्वारा ‘स्पर्श’ प्रणाली की बारीकियों तथा इसके असीमित लाभ के बारे में एक विस्तृत प्रजेंटेशन दिया, जिसमें उन्होने यह बताया कि पेंशनर स्पर्श पोर्टल का लाभ किस तरह उठा सकते हैं तथा उन्होने पोर्टल के प्रति बन रही भ्रांतियों का भी निवारण किया। साथ ही साथ उन्होंने स्पर्श पोर्टल को और व्यापक बनाने के लिए उठाए गए कदमों की भी जानकारी रक्षा पेंशनरों को प्रदान की।

इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य अतिथि  रसिका चौबे, वित्तीय सलाहकर (रक्षा सेवाएँ) ने कहा कि स्पर्श कार्यक्रम रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार की एक पहल है जिसमें शुरुआत से अंत तक पेंशनरों को उनकी पेंशन प्रक्रिया में भागीदार बनाना एवं उन्हें समस्त सूचनाएं प्रदान करना है। उन्होंने पेंशनरों के सहयोग हेतु स्पर्श सेवा केंद्र तथा कॉमन सर्विस सेंटर की भूमिका के महत्व पर प्रकाश डाला तथा कार्यक्रम में उठाए गए बिन्दुओं का व्यक्तिगत स्तर पर मोनिटररिंग का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि सभी बैंकों से पेंशनरों से संबंधित डाटा प्राप्त करने का कार्य किया जा रहा है जिससे स्पर्श पोर्टल की अधिकांश समस्याओं का निराकरण किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि रक्षा लेखा विभाग पेंशनरों के प्रति पूर्ण प्रतिबद्ध है तथा उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए सतत प्रयत्नशील है। इसी क्रम में उन्होने रक्षा पेंशनरों से सहयोग का आह्वान किया।


Previous Post Next Post