पूर्व राज्यपाल राम नाईक के ग्रंथ ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ और ‘कर्मयोद्धा’ को आचार्य अत्रे स्मृति प्रतिष्ठान, पुणे का पुरस्कार


लखनऊ (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक को आचार्य अत्रे स्मृति प्रतिष्ठान, पुणे के द्वारा  उनके आत्मकथात्मक ग्रंथ ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ और ‘कर्मयोद्धा’ को कऱ्हा नदी का पानी बृहत् आत्मचरित्र आचार्य अत्रे पुरस्कार घोषित हुआ है.  पुरस्कार प्रदान समारोह पुणे में दिनांक 13 अगस्त को शाम को 6.00 बजे संपन्न होगा.

मराठी भाषा के साहित्यसम्राट आचार्य अत्रे की 124 वी जयंती दिनांक 13 अगस्त को है.  इस उपलक्ष्य में ‘हास्य-विनोद आनंद महोत्सव’ दिनांक 11,12 और 13 अगस्त को आचार्य अत्रे स्मृति प्रतिष्ठान, पुणे की तत्वावधान में आयोजित होगा.

तीन दिन के विभिन्न साहित्यिक कार्यक्रमों के बाद पुरस्कार प्रदान कार्यक्रम से 13 अगस्त को समापन समारोह संपन्न होगा. सभी कार्यक्रम आचार्य अत्रे प्रतिष्ठान, विनोद विद्यापीठ, लकाकी रास्ता, शिवाजी नगर, पुणे में होंगे.

Previous Post Next Post