लखनऊ नगर निगम में बैठे 6 साल से जोनल अधिकारी शासन को लगा रहे हैं पतीला

लखनऊ (मानवी मीडिया)लखनऊ नगर निगम में बैठे 6 साल से जोनल अधिकारी शासन का लगा रहे हैं पतीला और जमे पड़े हैं  वही zone-2 के अरुण चौधरी कर निर्धारण अधिकारी को zone से उनको मुक्त किया गया आपको यह बता दें कि अरुण चौधरी Zone 2  अधिकारी थे उनके मात्र 2 साल नौकरी के बचे थे पर शासन की मंशा देखिए सही काम करने वाले व्यक्ति को शासन के लोग अच्छे काम करने की वजह से बाहर फेंक देते हैं और जो zone 6 zone 3 कई साल से बराबर कुर्सी पर सिक्का जमाया बैठे हैं शासन-प्रशासन की मेहरबानी उन पर दया दृष्टि दिखाई जा रही है बताते हैं कि जब नौकरी नई ज्वाइन अधिकारी करता है तो उसको शासन-प्रशासन की मेहरबानी के हिसाब से ही zone दिया जाता है और कोई भी अधिकारी जब रिटायरमेंट किया जाती है तो वह साल के आखिरी समय में अपनी मनपसंद जगह पोस्टिंग करा सकता है क्योंकि शुरुआत से लेकर आखिरी तक उत्तर प्रदेश शासन और नगर निगम को सही मार्ग दिशा दिखाने का काम zone के अधिकारी का ही होता है जो की आखिरी टाइम पर अपने मनपसंद जगह पर रुक सकता है पर कहीं ना कहीं सही अधिकारी को काम करने वालों को शासन में जगह नहीं दी जाती है  क्योंकि कुछ अधिकारियों को उनको मनपसंद कुर्सी चाहिए होती है पर इस पर बराबर अपडेट बना रहेगा और बराबर यह खबर अपडेट होती रहेगी कि जिनको रिलीफ किया गया वह बैठे हैं और जिन अधिकारियों को अपनी जिम्मेदारी उन्होंने अपने जिम्मेदारियों का पालन करते हुए अपने कार्यभार को संभाल लिया पर जोन 3 और 6  अफसरों पर महेरबान है नगर आयुक्त

ट्रांसफर के बाद भी नगर निगम लखनऊ के ज़ोन 3 और 6 के जोनल नही हुए स्थान्तरित

बिंनो रिज़वी और एम बी बीस्ट को नही किया गया रिलीज 

वही बाकी लोगो स्थान्तरित होने के बाद नई जगह जॉइन कर लिया है 

शासन प्रसाशन में रखती है पकड़ बिंनो रिज़वी के पति भी है बड़े अधिकारी वही एम भी बीस्ट है उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की समधन और अपर्णा यादव की माँ 

जोन 4 में TS को दे रखा है जोनल अफसर का चार्ज 

जोन 4 में भरस्टाचार चरम पर राजस्व निरीक्षक अपने अंडर में रखे है 5 कर्मचारी 

10-10 हज़ार में रखे है 5 कर्मचारी सवाल है कि 50 हज़ार की तनख्वाह में 5 कर्मचारियों को कैसे रखे है।

Previous Post Next Post