भारत की दूसरी महिला राष्ट्रपति बनीं द्रौपदी मुर्मू


नई दिल्ली  (मानवी मीडिया)  26 जनवरी, 1950 को गणतंत्र बने भारत के राष्ट्रपति पद पर दूसरी बार एक महिला सुशोभित हो गई हैं, बस ,औपचारिक घोषणा होना शेष रह गया है... 18 जुलाई को हुए राष्ट्रपति चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व में केंद्र में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की प्रत्याशी श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने संयुक्त विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा से हुए मुकाबले में कुल वोटों में से 50 फीसदी से अधिक वोट हासिल कर लिए हैं, हालांकि मतगणना अब भी जारी है... भारतीय संविधान में की गई व्यवस्था के अनुसार पांच साल के कार्यकाल वाले इस सर्वोच्च पद पर श्रीमती द्रौपदी मुर्मू 25 जुलाई, 2022 को शपथ लेकर विराजमान होंगी, जिन्हें देश के मौजूदा प्रधान न्यायाधीश (CJI) एन.वी. रमना पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे... सो, इस समय यह याद करना दिलचस्प रहेगा कि भारत के गणतंत्र बन जाने, यानी संविधान को अंगीकार कर लेने के बाद से अब तक कितने राष्ट्रपति देश में रह चुके हैं, और उनसे जुड़ी कुछ रोचक और अनजानी बातें जान लेना भी काफी रोचक होगा...

भारत के राष्ट्रपतियों से जुड़े 20 रोचक तथ्य

1
द्रौपदी मुर्मू भारतीय गणराज्य की 15वीं राष्ट्रपति चुनी गई हैं... भारत का राष्ट्रपति राष्ट्राध्यक्ष होने के साथ-साथ भारतीय सशस्त्र सेनाओं का सुप्रीम कमांडर तथा देश का पहला नागरिक भी होता है...

2
द्रौपदी मुर्मू देश की पहली जनजातीय महिला राष्ट्रपति तथा दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं... भारत की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल थीं, जो 25 जुलाई, 2007 से 25 जुलाई, 2012 तक राष्ट्रपति पद पर विराजमान रहीं...

3
अब तक देश के 12 राष्ट्रपतियों ने अपना पांच-वर्षीय कार्यकाल पूरा किया है... भारत के दो राष्ट्रपति - तीसरे राष्ट्रपति डॉ ज़ाकिर हुसैन (निधन : 3 मई, 1969) तथा पांचवें राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद (निधन : 11 फरवरी, 1977) - का देहावसान पद पर रहते हुए हुआ, और वे अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाए थे...

4
दो कार्यकाल तक पद संभालने वाले भारत के एकमात्र राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद रहे, जो भारत के पहले राष्ट्रपति थे, और 26 जनवरी, 1950 को देश के संविधान को स्वीकार / अंगीकार करने के साथ ही राष्ट्रपति पद पर विराजमान हो गए थे... वह 13 मई, 1962 तक कुल मिलाकर 12 साल 107 दिन तक भारत के राष्ट्रपति रहे, जो अब तक के सभी राष्ट्रपतियों में सबसे लम्बा कार्यकाल रहा... 26 जनवरी, 1950 को गणतंत्र बनने पर आधिकारिक रूप से भारत का राष्ट्रपति बनने से पहले डॉ राजेंद्र प्रसाद संविधान सभा के अध्यक्ष थे...

5
भारत में अब तक कुल तीन कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे हैं... देश के पहले कार्यवाहक राष्ट्रपति वराहगिरी वेंकटगिरि (वी.वी. गिरि) थे, जो भारत के तीसरे राष्ट्रपति डॉ ज़ाकिर हुसैन के पद पर रहते हुए निधन के बाद 3 मई, 1969 से 20 जुलाई, 1969 तक 78 दिन तक कार्यवाहक राष्ट्रपति के पद पर रहे... जब वी.वी. गिरि ने राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने के लिए पद से त्यागपत्र दिया, तो 20 जुलाई, 1969 से 24 अगस्त, 1969 तक 35 दिन के लिए मोहम्मद हिदायतुल्ला (वह भारत के प्रधान न्यायाधीश (CJI) भी रह चुके हैं) को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया... इसके बाद, देश के तीसरे कार्यवाहक राष्ट्रपति बासप्पा दानप्पा जत्ती (बी.डी. जत्ती) बने, जब पांचवें राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद का पद पर रहते हुए निधन हो गया... बी.डी. जत्ती 11 फरवरी, 1977 से 25 जुलाई, 1977 तक कुल 164 दिन के लिए कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे...

6
मोहम्मद हिदायतुल्ला देश के सर्वोच्च पद पर (कार्यवाहक राष्ट्रपति के रूप में) पहुंचने वाले एकमात्र शख्स हैं, जो भारत के प्रधान न्यायाधीश (CJI) भी रहे...

7
मोहम्मद हिदायतुल्ला ही एकमात्र शख्सियत हैं, जो कार्यवाहक राष्ट्रपति रहने के बाद देश के उपराष्ट्रपति बने... मोहम्मद हिदायतुल्ला 31 अगस्त, 1979 से 30 अगस्त, 1984 तक भारत के उपराष्ट्रपति रहे... उनके उपराष्ट्रपति काल में देश के राष्ट्रपति पद नीलम संजीवा रेड्डी तथा ज्ञानी ज़ैल सिंह विराजमान रहे...

8
छठे राष्ट्रपति नीलम संजीवा रेड्डी भारत के एकमात्र राष्ट्रपति रहे, जिनका चुनाव निर्विरोध हुआ था... वर्ष 1977 में हुए चुनाव के लिए दाखिल किए गए सभी 36 अन्य नामांकन पत्र रद्द हो गए थे, और वही अकेले मैदान में बचे थे...

9
एक दिलचस्प तथ्य यह भी है कि वर्ष 1969 में भी नीलम संजीवा रेड्डी ने आधिकारिक कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में राष्ट्रपति चुनाव लड़ा था, परन्तु उस वक्त वह बेहद कम अंतर से निर्दलीय वराहगिरी वेंकटगिरि (वी.वी. गिरि) से हार गए थे...

10
देश में सबसे रोचक राष्ट्रपति चुनाव 1969 का ही रहा था, जब नीलम संजीवा रेड्डी के कांग्रेस का आधिकारिक प्रत्याशी होने के बावजूद प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सांकेतिक तौर पर वी.वी. गिरी का समर्थन किया था, जिसकी बदौलत वामदलों के अलावा कांग्रेस के भी कुछ जनप्रतिनिधियों ने वीवी. गिरी का साथ दिया. हालांकि वी.वी. गिरी को पहली वरीयता वाले सिर्फ 48 फीसदी मत हालि हुए थे, और उन्हें पूर्ण बहुमत नहीं मिला था, परन्तु उस वक्त चुनाव में तीसरे आधिकारिक प्रत्याशी वित्तमंत्री सी.डी. देशमुख को भी एक लाख से कुछ ज़्यादा वोट मिल गए थे, जिसके फलस्वरूप नीलम संजीवा रेड्डी चुनाव हार गए थे...

11
भारत में छह राष्ट्रपति ऐसे रहे, जो उपराष्ट्रपति, यानी संसद के उच्च सदन राज्यसभा के सभापति भी रहे हैं... भारत के पहले उपराष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन देश के दूसरे राष्ट्रपति बने थे... देश के दूसरे उपराष्ट्रपति डॉ ज़ाकिर हुसैन भारत के तीसरे राष्ट्रपति बने थे... तीसरे उपराष्ट्रपति वी.वी. गिरी भी देश के चौथे राष्ट्रपति चुने गए... रामास्वामी वेंकटरमण भारत के सातवें उपराष्ट्रपति थे, जो आठवें राष्ट्रपति चुने गए... आठवें उपराष्ट्रपति डॉ शंकर दयाल शर्मा भी नौवें राष्ट्रपति बने... इसी प्रकार, नौवें उपराष्ट्रपति कोचेरिल रमन नारायणन (के.आर. नारायणन) भी भारत के 10वें राष्ट्रपति बने... के.आर. नारायणन के बाद राष्ट्रपति पद पर अब तक कोई भी उपराष्ट्रपति विराजमान नहीं हुआ है...

12
राष्ट्रपति के रूप में सबसे छोटा कार्यकाल तीसरे राष्ट्रपति डॉ ज़ाकिर हुसैन का रहा था... वह 13 मई, 1967 से 3 मई, 1969 तक ही राष्ट्रपति रहे, और उनका कार्यकाल कुल एक साल 355 दिन का रहा... यह देश के राष्ट्रपति के रूप सबसे छोटा कार्यकाल रहा...

13
देश के पांचवें राष्ट्रपति और भारत के दूसरे मुस्लिम राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद का 11 फरवरी, 1977 को देहावसान हो जाने पर बासप्पा दानप्पा जत्ती (बी.डी. जत्ती) कार्यवाहक राष्ट्रपति बने, और उन्होंने अपने पांच माह 14 दिन के कार्यकाल के दौरान देश के प्रधानमंत्री पद पर मोरारजी देसाई तथा उनके मंत्रिमंडल को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई...

14
वर्ष 1957 में हुए चुनाव में राष्ट्रपति पद पर 1950 से विराजमान डॉ राजेंद्र प्रसाद ने दोबारा चुनाव लड़ा था, और उस वक्त उन्हें 98.99 फीसदी मत प्राप्त हुए थे... यह किसी भी राष्ट्रपति द्वारा हासिल किए गए वोटों में सर्वाधिक प्रतिशत है...

15
वर्ष 1962 के राष्ट्रपति चुनाव में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 98.25 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे, और यह दूसरा सर्वाधिक वोट प्रतिशत है... हालिया वर्षों में कोचेरिल रमन नारायणन (के.आर. नारायणन) ने 1997 के राष्ट्रपति चुनाव में लगभग 95 फीसदी वोट पाए थे, जब शिवसेना के अतिरिक्त सभी बड़ी पार्टियों ने उनका समर्थन किया था...

16
भारत के चौथे राष्ट्रपति वी.वी. गिरि एकमात्र ऐसे राष्ट्रपति हैं, जो देश के कार्यवाहक राष्ट्रपति भी रहे हैं, और उपराष्ट्रपति भी रहे हैं...

17
देश के पहले और एकमात्र सिख राष्ट्रपति ज्ञानी ज़ैल सिंह थे, जो 25 जुलाई, 1982 से 25 जुलाई, 1987 तक भारतीय गणराज्य के सातवें राष्ट्रपति रहे...

18
देश के पहले मुस्लिम राष्ट्रपति डॉ ज़ाकिर हुसैन थे, जो भारत के तीसरे राष्ट्रपति के रूप में 13 मई, 1967 से 3 मई, 1969 तक सर्वोच्च पद पर रहे... भारत के दूसरे मुस्लिम राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद थे, जो पांचवें राष्ट्राध्यक्ष के रूप में 24 अगस्त, 1974 से 11 फरवरी, 1977 तक राष्ट्रपति पद पर विराजमान रहे... देश के तीसरे मुस्लिम राष्ट्रपति डॉ अवुल पकिर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम, यानी डॉ ए.पी.जे. अब्दुल कलाम थे, जो देश के 11वें राष्ट्रपति के रूप में 25 जुलाई, 2002 से 25 जुलाई, 2007 तक विराजमान रहे...

19
देश के पहले दलित राष्ट्रपति के.आर. नारायणन थे, जो 25 जुलाई, 1997 से 25 जुलाई, 2002 तक भारतीय गणराज्य के 10वें राष्ट्रपति रहे... देश के दूसरे दलित राष्ट्रपति भारत के 14वें और निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हैं, जिन्होंने 25 जुलाई, 2017 को पदभार संभाला था, और अब 25 जुलाई, 2022 को द्रौपदी मुर्मू के शपथग्रहण तक पद पर रहेंगे...

20
भारत के सभी राष्ट्रपति इस प्रकार हैं...
पहले राष्ट्रपति थे डॉ राजेंद्र प्रसाद (जन्म 1884 - निधन 1963) - दो कार्यकाल तक पद पर रहे एकमात्र राष्ट्रपति, सबसे लम्बा कार्यकाल - (26 जनवरी, 1950 - 13 मई, 1962)
दूसरे राष्ट्रपति थे डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन (जन्म 1888 - निधन 1975) - राष्ट्रपति पद पर पहुंचे पहले उपराष्ट्रपति - (13 मई, 1962 - 13 मई, 1967)
तीसरे राष्ट्रपति थे डॉ ज़ाकिर हुसैन (जन्म 1897 - निधन 1969) - पहले मुस्लिम राष्ट्रपति, पद पर रहते हुए देहावसान, सबसे छोटा कार्यकाल - (13 मई, 1967 - 3 मई, 1969)
चौथे राष्ट्रपति थे वी.वी. गिरि (जन्म 1894 - निधन 1980) - पहले कार्यवाहक राष्ट्रपति (उपराष्ट्रपति, कार्यवाहक राष्ट्रपति तथा राष्ट्रपति - तीनों पदों पर रहे एकमात्र व्यक्ति) - (24 अगस्त, 1969 - 24 अगस्त, 1974)
पांचवें राष्ट्रपति थे फखरुद्दीन अली अहमद (जन्म 1905 - निधन 1977) - दूसरे मुस्लिम राष्ट्रपति, पद पर रहते हुए देहावसान - (24 अगस्त, 1974 - 11 फरवरी, 1977)
छठे राष्ट्रपति थे नीलम संजीवा रेड्डी (जन्म 1913 - निधन 1996) - निर्विरोध चुने गए एकमात्र राष्ट्रपति - (25 जुलाई, 1977 - 25 जुलाई, 1982)
सातवें राष्ट्रपति थे ज्ञानी ज़ैल सिंह (जन्म 1916 - निधन 1994) - पहले और एकमात्र सिख राष्ट्रपति - (25 जुलाई, 1982 - 25 जुलाई, 1987)
आठवें राष्ट्रपति थे आर. वेंकटरमण (जन्म 1910 - निधन 2009) - (25 जुलाई, 1987 - 25 जुलाई, 1992)
नौवें राष्ट्रपति थे डॉ शंकर दयाल शर्मा (जन्म 1918 - निधन 1999) - (25 जुलाई, 1992 - 25 जुलाई, 1997)
10वें राष्ट्रपति थे के.आर. नारायणन (जन्म 1920 - निधन 2005) - पहले दलित राष्ट्रपति - (25 जुलाई, 1997 - 25 जुलाई, 2002)
11वें राष्ट्रपति थे डॉ अवुल पकिर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम, यानी डॉ ए.पी.जे. अब्दुल कलाम (जन्म 1931 - निधन 2015) - तीसरे मुस्लिम राष्ट्रपति - (25 जुलाई, 2002 - 25 जुलाई, 2007)
12वीं राष्ट्रपति थीं श्रीमती प्रतिभा पाटिल (जन्म 1934) - पहली महिला राष्ट्रपति - (25 जुलाई, 2007 - 25 जुलाई, 2012)
13वें राष्ट्रपति थे डॉ प्रणब मुखर्जी (जन्म 1935 - निधन 2020) - (25 जुलाई, 2012 - 25 जुलाई, 2017)
14वें और निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (जन्म 1945) - दूसरे दलित राष्ट्रपति - (25 जुलाई, 2007 - 25 जुलाई, 2012)

भारत के राष्ट्रपति
संख्याराष्ट्रपति का नामजन्मनिधनकार्यकाल
1डॉ राजेंद्र प्रसाद3 दिसंबर, 188428 फरवरी, 196326 जनवरी, 1950 से 13 मई, 1962
2डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन5 सितंबर, 188817 अप्रैल, 197513 मई, 1962 से 13 मई, 1967
3डॉ ज़ाकिर हुसैन8 फरवरी, 18973 मई, 196913 मई, 1967 से 3 मई, 1969
**वराहगिरी वेंकटगिरी10 अगस्त, 189424 जून, 19803 मई, 1969 से 20 जुलाई, 1969
**मोहम्मद हिदायतुल्ला17 दिसंबर, 190518 सितंबर, 199220 जुलाई, 1969 से 24 अगस्त, 1969
4वराहगिरी वेंकटगिरी10 अगस्त, 189424 जून, 198024 अगस्त, 1969 से 24 अगस्त, 1974
5डॉ फखरुद्दीन अली अहमद13 मई, 190511 फरवरी, 197724 अगस्त, 1974 से 11 फरवरी, 1977
**बासप्पा दानप्पा जत्ती10 सितंबर, 19127 जून, 200211 फरवरी, 1977 से 25 जुलाई, 1977
6नीलम संजीवा रेड्डी19 मई, 19131 जून, 199625 जुलाई, 1977 से 25 जुलाई, 1982
7ज्ञानी ज़ैल सिंह5 मई, 191625 दिसंबर, 199425 जुलाई, 1982 से 25 जुलाई, 1987
8रामास्वामी वेंकटरमण4 दिसंबर, 191027 जनवरी, 200925 जुलाई, 1987 से 25 जुलाई, 1992
9डॉ शंकर दयाल शर्मा19 अगस्त, 191826 दिसंबर, 199925 जुलाई, 1992 से 25 जुलाई, 1997
10कोचेरिल रमन नारायणन4 फरवरी, 19209 नवंबर, 200525 जुलाई, 1997 से 25 जुलाई, 2002
11डॉ ए.पी.जे. अब्दुल कलाम15 अक्टूबर, 193127 जुलाई, 201525 जुलाई, 2002 से 25 जुलाई, 2007
12प्रतिभा पाटिल19 दिसंबर, 1934-25 जुलाई, 2007 से 25 जुलाई, 2012
13डॉ प्रणब मुखर्जी11 दिसंबर, 193531 अगस्त, 202025 जुलाई, 2012 से 25 जुलाई, 2017
14रामनाथ कोविंद1 अक्टूबर, 1945-25 जुलाई, 2017 से 25 जुलाई, 2022
15द्रौपदी मुर्मू20 जून, 1958-25 जुलाई, 2022 को होगा शपथग्रहण
Previous Post Next Post