बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक ऍम कार्तिकेयन ग्राहक जनसंपर्क सप्ताह आयोजन में सम्मिलित

लखनऊ-(मानवी मीडिया)आज़ादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर भारत सरकार द्वारा आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत ग्राहक  जनसंपर्क सप्ताह मनाया जा रहा है।  भारत सरकार वित्तीय सेवाएं विभाग के निर्देशानुसार अग्रणी बैंक के रूप में बैंक ऑफ इंडिया और अन्य बैंकों ने अपनी विभिन्न  ऋण सुविधाओं को सुगमता पूर्वक ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए लखनऊ में ग्राहक संपर्क अभियान आयोजित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक ऍम कार्तिकेयन ने की उन्होंने उपस्थित बैंक के अधिकारीयों और ग्राहकों को भारत सरकार की संचालित सभी जनकल्याणकारी योजनाओं के विषत में चर्चा की तथा बैंक की ग्राहकों के प्रति सेवा के लिए प्रतिबद्धता की बात की। उन्होंने पिछले माह हुए जनसम्पर्क अभियान में भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से भाग लिया था। बैंक के महाप्रबंधक विश्वजीत मिश्रा ने बैंक की विभिन्न योजनाओं की कार्यान्यवयन और कारपोरेट सामाजिक दायत्वों के तहत बैंक द्वारा किये जा रहे कार्यों की चर्चा की। आर्यव्रत बैंक के चेयरमैन अमिताभ बनर्जी के ग्रामीणों क्षेत्रों में दी जा रही बैंकिंग सुविधाओं के विषय में बताया।  बैंक में आंचलिक प्रबंधक मंगेश कदम ने बताया की विभिन्न योजनाओं के तहत सभी बैंकों को मिलकर कुल 110 करोड़ रूपये का ऋण जुटाया (मोबिलाइज किया ) 150 से अधिक ग्राहकों के लिए 24 करोड़ रूपये से अधिक के ऋण स्वीकृत किये गए,जिसमे से 70 ग्राहकों को आज के कार्यक्रम में स्वीकृति पत्र वितरित किये गए कार्यपालक निदेशक ऍम कार्तिकेयन और बैंक के अधिकारीयों ने विभिन्न लाभार्थियों को स्वीकृत पत्र सौपें जिनमे आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग के प्रधानमन्त्री आवास योजना,मुद्रा  ऋण,स्टैंड अप इंडिया ,एक जनपद एक उत्पाद,और पी ऍम स्वनिधि योजनाओं जैसे अन्य सरकारी कार्यक्रमों/योजनाओं के लाभार्थी शामिल थे।
  कार्यक्रम में प्रधानमन्त्री जीवन ज्योति योजना और अटल पेंशन योजना के तहत आये आवेदनों का नामांकन भी किया। इस अभियान में बैंक द्वारा संचालित ग्रामीण स्वरोज़गार प्रशिक्षण संस्थान लखनऊ और बाराबंकी के प्रशिक्षण प्राप्त  लाभार्थी तथा पी ऍम स्वनिधि योजना के लाभार्थियों ने अपने स्टाल भी लगाया कार्यक्रम में 2100 ग्राहकों को अटल पेंशन योजना से लाभान्वित किया गया।

 कार्यक्रम मे उप आंचलिक प्रबंधक गौतम सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक अम्बरीश तिवारी ने अपने विचार रखे।

Previous Post Next Post