आजमगढ़ के नाम से लोग डरते थे, अब शुरू होगी उड़ान


लखनऊ (मानवी मीडियाअब आजमगढ़ से उड़ान शुरू होगी। अलीगढ़, श्रावस्ती, चित्रकूट और सोनभद्र से भी विमानों का उड़ना शुरू होगा। इन तमाम जिलों में हवाई अड्‌डों को विकसित किया जा रहा है। पांच जिलों में विकसित किए जा रहे एयरपोर्ट के संचालन और प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के बीच शुक्रवार को करार हुआ। एमओयू होने के बाद सीएम ने इस कार्यक्रम को संबोधित किया और आजमगढ़ को लेकर बड़ा बयान दिया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई सोच सकता था कि आजमगढ़ में एयरपोर्ट बनेगा। लोग यहां के नाम से डरते थे। हमारी सरकार ने पहले ही पूर्वांचल एक्सप्रेसवे आजमगढ़ के बीच से निकाला है। पीएम नरेंद्र मोदी जी के हाथों इसका लोकार्पण भी हुआ है। सीएम ने कहा है कि हमें खुशी है कि आज एक महत्वपूर्ण एमओयू का निष्पादन हुआ है। एयरपोर्ट के संचालन और प्रबंधन के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया का सहयोग मिल रहा है।

सीएम योगी ने कहा कि ये एयरपोर्ट ऐसे क्षेत्रों में स्थापित हो रहे हैं, जो विकास की दौड़ में कुछ कारणों से छूट गए थे। श्रावस्ती, सोनभद्र और चित्रकूट आकांक्षी जिले हैं। यहां से एयर कनेक्टिविटी होने से इन क्षेत्रों का विकास हो सकेगा। यूपी सरकार की ओर से मुख्य सचिव एसपी गोपाल और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष एके पाठक के बीच अनुबंध पत्र का आदान-प्रदान किया गया।

सीएम योगी ने इस मौके पर कहा कि प्रदेश जल्द पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य बनने वाला है। अभी वाराणसी, कुशीनगर और लखनऊ में इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं। जेवर और अयोध्या में निर्माण कार्य चल रहा है। वर्ष 2017 से पहले लखनऊ और वाराणसी में ही एयरपोर्ट थे। गोरखपुर और आगरा में आंशिक रूप से क्रियाशील एयरपोर्ट थे। उस समय 4 एयरपोर्ट से 25 स्थानों तक वायुसेवा उपलब्ध थी। आज 9 एयरपोर्ट पर ऑपरेशन चल रहा है। 10 पर काम चल रहा है। 75 स्थानों से एयर कनेक्टिविटी है।

Previous Post Next Post