नई खांडसारी लाइसेंसिंग नीति के तहत अब तक कुल 280 लाइसेंस जारी

लखनऊ (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश सरकार ने ग्रामीण व्यवस्था में व्यापक सुधार के लिए गुण उद्योग एवं खांडसारी उद्यम के क्षेत्र में रोजगार के व्यापक अवसर सृजित किए हैं। खांडसारी लाइसेंस नीति में किए गए सकारात्मक बदलाव और ऑनलाइन खंडसारी लाइसेंसिंग व्यवस्था लागू करने से इस उद्योग के प्रति लोगों में रुचि बढ़ी है। जिससे स्थानीय स्तर पर लोगों के लिए रोजगार सृजन होगा। 

चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार नवीन खांडसारी लाइसेंस नीति के तहत अब तक 280 लाइसेंस जारी किए गए हैं,  जिसमें 170 इकाइयां संचालित हैं। जिनकी कुल पेराई क्षमता 71,350 टी.सी.डी. है। इन इकाइयों के संचालन से ग्रामीण क्षेत्रों में 688 करोड़ रुपए का पूंजीगत निवेश हुआ। इस उद्योग में लगभग 19,264 लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार के अवसर सुलभ हुए हैं। 

खांडसारी इकाइयों के संचालन से गन्ना किसानों को गन्ने गन्ना आपूर्ति के अवसर सुलभ होंगे और गन्ने की पेराई के लिए एक अतिरिक्त विकल्प भी मिला है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में खांडसारी उद्योग में लगे लोगों की आर्थिक दशा में भी उल्लेखनीय सुधार परिलक्षित हुआ है।

Previous Post Next Post