जहांगीरपुरी केस में ED की एंट्री


नई दिल्ली (
मानवी मीडिया) : दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जयंती पर हिंसा के बाद सुरक्षा बलों की तैनाती आज भी जारी है। वहीं इस हिंसा और फिर हुई तोड़फोड़ के बाद हलचल तेज है। सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल जहांगीरपुरी में अवैध निर्माणों को तोड़ने पर रोक लगा दी है। इस बीच आज वहां नेताओं का पहुंचना जारी है। सुबह विश्व हिन्दू परिषद का एक प्रतिनिधिमंडल जहांगीरपुरी पहुंच चुका है। बाकी TMC, सीपीआई का डेलिगेशन भी आज हिंसा प्रभावित जहांगीरपुरी जाएगा। 

इंडियन मुस्लिम लीग का एक डेलीगेशन जहांगीरपुरी पहुंच गया है। जहांगीरपुरी में पुलिस ने अलग-अलग लोकेशन पर सीसीटीवी कैमरा लगाना शुरू किए।

दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने ईडी को लेटर लिखा है। इसमें कमिश्नर ने ईडी को कहा है कि जहांगीरपुरी हिंसा के मुख्य आरोपी अंसार के खिलाफ PMLA के तहत एक्शन लें। बता दें कि अंसार को जहांगीरपुरी में हुई हिंसा का मास्टरमाइंड बताया गया था।

मिली जानकारी के मुताबिक, VHP के प्रांत अध्यक्ष कपिल खन्ना करीब 10 लोगों के साथ जहांगीरपुरी पहुंचे हैं। यहां वह सुकेन के परिवार से मिले। वह जहांगीरपुरी के G block में रहते हैं। सुकेन और परिवार के लोगों पर एफआईआर हुई है। वीएचपी के प्रांत मंत्री सुरेंद्र गुप्ता का कहना है कि सूकेन और उसके परिवार वालों पर भी वही एफआईआर दर्ज की है जो बाकी आरोपियों पर हुई है। जबकि सुकेन तो खुद घायल हुआ था।

सीपीआई का डेलिगेशन आज दोपहर एक बजे जहांगीरपुरी पहुंचेगा। वहीं टीएमसी का पांच सदस्यों का दल आज 2 बजे जहांगीरपुरी पहुंचेगा। इसमें काकोली घोष दस्तीदार, अर्पिता घोष, अपरूपा पोद्दार, सजदा अहमद, शताब्दी रॉय शामिल होंगी।

वहीं जहांगीरपुरी की जामा मस्जिद से आज ऐलान हुआ है कि शुक्रवार यानी आज जुम्मे के दिन नमाज के लिए छोटे बच्चे ना आएं। ये एहतियातन किया गया है ताकि कोई बच्चा गलती से खेल-खेल में पत्थर आदि किसी पर ना फेंक दें। लोगों से शांति से नमाज पढ़ने की अपील हुई है।

यह है पूरा मामला
जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हनुमान जयंती शोभायात्रा के दौरान दो समुदायों के बीच संघर्ष हो गया था जिसमें आठ पुलिस कर्मी और एक स्थानीय शख्स जख्मी हो गया था। पुलिस के मुताबिक, संघर्ष के दौरान पथराव और आगज़नी की घटनाएं हुई थी और गाड़ियों को भी जला दिया गया था। 

Previous Post Next Post