संविधान बचाने के लिए जो भी रास्ता अपनाना पड़ेगा सपा वह रास्ता अपनाएगी:: अखिलेश यादव - मानवी मीडिया

निष्पक्ष एवं निर्भीक

.

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, April 14, 2022

संविधान बचाने के लिए जो भी रास्ता अपनाना पड़ेगा सपा वह रास्ता अपनाएगी:: अखिलेश यादव


लखनऊ (मानवी मीडिया)  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ने कहा है कि संविधान बचाने के लिए जो भी रास्ता अपनाना पड़ेगा समाजवादी पार्टी वह रास्ता अपनाएगी। समाजवादी पार्टी अपना संगठन मजबूत कर जल्दी ही जनता के बीच जाएगी और जन-जागरण अभियान चलाएगी। संविधान बचाने के लिए हम लोग सब कुछ करेंगे।

    अखिलेश यादव आज मैनपुरी में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने भारतरत्न डॉ0 भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। 

  यादव ने कहा कि आज महंगाई से जनता परेशान है। मैंने चुनाव के समय कहा था कि चुनाव बाद भाजपा महंगाई बढ़ाएगी। आज हर चीज के दाम बढ़ गए हैं। खाने-पीने से लेकर घर बनाने तक सब महंगा हो गया हैं। भाजपा सरकार महंगाई से जनता को लूट रही है। भाजपा सरकार नौजवानों के भविष्य के साथ भी खिलवाड़ कर रही है। नौजवानों के लिए नौकरी रोजगार नहीं है। 

    यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की नौकरी केवल विज्ञापन में है। प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहद खराब है। अयोध्या में बेटी के साथ हुई घटना में परिवार को न्याय नहीं मिला। कानपुर में बैंकों की तिजोरी में लूट हो रही हैं। भाजपा सरकार में ही गाजियाबाद के बैंक के लॉकर से लूट हो गयी। भाजपा सरकार बताए कि अर्थव्यवस्था कब सुधरेगी और लूट कब बंद होगी? 

    यादव ने कहा कि आज हम लोग बाबा साहब को याद कर रहे हैं। हम सभी लोग संविधान बचाने के लिए आगे आएं। एक जाति दूसरी जाति का सम्मान करें। उन्होंने कहा कि चुनाव में समाजवादी पार्टी को हर वर्ग का वोट मिला। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मजबूत हैं।

    अखिलेश यादव ने कहा कि पूरे प्रदेश में लूट हो रही है। नींबू की चोरी हो रही है, आईपीएस अभी भी फरार है। पेपर लीक को उजागर करने वाले बलिया के पत्रकार जेल में है। जनता ने समाजवादियों को संघर्ष का जनादेश दिया है। समाजवादी पार्टी जनता के मुद्दों को लेकर हर स्तर पर मुकाबला और संघर्ष करेगी। वह जनहित के हर मुद्दे पर सरकार को घेरने का काम करेगी।

                 

Post Top Ad

Responsive Ads Here