मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य अम्बेडकर जयंती में शामिल, विभागीय कार्यों की समीक्षा बैठक भी की।


लखनऊ : (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए हर स्तर पर विकास योजनाओं की रूप रेखा तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के सौ दिन की कार्ययोजना का शासन को सूचनाएं समय से प्राप्त कराएं और बरेली के विकास की प्राथमिकताओं से शासन को भी अवगत कराएं। 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे गांवों की सूची बनाई जाए जो विकास की धारा में पीछे रह गए प्रतीत होते हैं, इन गांवों में कितनी योजनाएं के लक्ष्य प्राप्त किए गए हैं, उनका स्पष्ट उल्लेख किया जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे गांवों की भी सूची तैयार कर प्रस्तुत की जाए जो संतृप्त की श्रेणी में आ गए हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की सूची तैयार कर जन कल्याण कारी योजनाओं एवं विकास कार्यों को लागू करने में सुविधा होगी।उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य ने आज विकास भवन सभागार बरेली में विभागीय विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

 बैठक में सांसद  संतोष कुमार गंगवार, सांसद धर्मेन्द्र कश्यप,  महापौर  उमेश गौतम, जिला पंचायत अध्यक्ष  रश्मि पटेल, विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) कुंवर महाराज सिंह,  विधायक फरीदपुर डा. श्याम बिहारी लाल,  विधायक बिथरी चैनपुर डा. राघवेन्द्र शर्मा,  विधायक कैंट  संजीव अग्रवाल,  विधायक नवाबगंज डा. एमपी आर्य, मुख्य विकास अधिकारी  चन्द्र मोहन गर्ग सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे। इस अवसर पर  मुख्यमंत्री को प्रतीक चिन्ह के रूप में बुद्ध की प्रतिमा भेंट की गई तथा उन्होंने ‘बरेली विकास की ओर अग्रसर’ पुस्तिका का विमोचन भी किया।  

उप मुख्यमंत्री  ने कहा कि गांवों के विकास कार्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जिन गांवों में किसी कारण वश समुचित विकास कार्य नहीं हो पाए हैं, उन गांवों में क्या कठिनाइयां है इसका विवरण भी तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि जनपद में गौ आश्रय स्थलों की स्थिति में सुधार लाने के हर संभव प्रयत्न किए जाएं। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था की जाए कि प्रत्येक गौशाला में कम से कम एक गोसेवक अवश्य उपलब्ध रहे। उन्होंने बरेली में कार्य कर रहे स्वयं सहायता समूहों के उत्पाद की मार्केटिंग के लिए विशेष रूप से व्यवस्थाएं करने के भी निर्देश दिए और कहा कि इस प्रकार के प्रस्ताव शासन को उपलब्ध कराए जाएं तथा समय समय पर इन कार्यों की समीक्षा तथा बजट के व्यय की स्थिति की भी लगातार समीक्षा कर शासन को अवगत कराया जाए।


केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यों को क्रियान्वित करने वाले सम्बंधित विभागों की कार्य प्रणाली में प्रत्येक स्तर पर सुधार की आवश्यकता है तथा विकास कार्यों का लाभ वास्तविक पात्रों तक पहुंचे, इसके प्रयत्न करना सभी का दायित्व है। 

इससे पूर्व  उप मुख्यमंत्री ने आज अम्बेडकर जयंती के अवसर पर आईएमए हाल में आयोजित ‘सामाजिक समरसता दिवस’ विचार संगोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर  उप मुख्यमंत्री जी ने बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण तथा पुष्प अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। उन्होंने उपस्थित सभी लोगों को बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती, महावीर जयंती तथा वैशाखी पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती पूरे देश में बड़े धूम-धाम से मनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती के सपनों को भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार की दोनों सरकारें मिलकर ‘सबका साथ, सबका विकास‘ को लेकर उनके सपनों को साकार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बाबा साहब का कहना है कि एक रोटी कम खाना, शिक्षित जरूर बनों। उन्होंने कहा कि भारत सरकार व प्रदेश सरकार दोनों सरकारों द्वारा समाज के सभी वर्गों के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिसके द्वारा सभी गरीबों के हित के कार्य हो रहे हैं तथा चहुंमुखी विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम सभी को बाबा साहब के विचारों पर चलना चाहिए। इससे पूर्व  उप मुख्यमंत्री ने कोतवाली के सामने स्थित बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। 


Previous Post Next Post