कश्मीरी पंडितों से जुल्म पर आजाद ने तोड़ी चुप्पी


जम्मू (मानवी मीडियाकांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने जम्मू में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, मेरा मानना ​​है कि महात्मा गांधी सबसे बड़े हिंदू और धर्मनिरपेक्ष थे. बता दें कि इन दिनों कश्मीरी पंडितों के पलायन पर खूब चर्चा हो रही है. ऐसे में बिना नाम लिए उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में जो हुआ उसके लिए पाकिस्तान और आतंकवाद जिम्मेदार हैं, इसने सभी हिंदुओं, कश्मीरी पंडितों, कश्मीरी मुसलमानों, डोगराओं को प्रभावित किया है.

अपनी पार्टी पर भी उठाए सवाल

उन्होंने कहा, राजनीतिक दल धर्म, जाति और अन्य चीजों के आधार पर चौबीसों घंटे विभाजन पैदा कर सकते हैं; मैं किसी भी पार्टी को माफ नहीं कर रहा हूं. नागरिक समाज को साथ रहना चाहिए. जाति, धर्म के बावजूद सभी को न्याय दिया जाना चाहिए.

'हम प्यार से काम कर सकते हैं'

वे बोले, 'हम प्यार से रहकर भी तो वही काम कर सकते हैं. अगर इंडस्ट्री नहीं है तो क्या आवाज उठाने का हम सब का काम नहीं. अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने का काम क्या हमारा काम नहीं है?'

उमर अब्दुल्ला ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

आपको बता दें कि हाल ही में उमर अब्दुल्ला ने फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' पर कहा था कि, 'द कश्मीर फाइल्स फिल्म में तरह-तरह के झूठ दिखाए गए हैं. जब कश्मीरी पंडित यहां से निकले तब उस दौरान फारुक अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री नहीं थे उस समय राज्यपाल का राज था और देश में वी.पी. सिंह की सरकार थी जिसे BJP का समर्थन था.'

Previous Post Next Post