योगी मंत्रिमंडल के सहारे लोक सभा चुनाव2024 को साधने की तैयारी


नई दिल्ली (मानवी मीडिया) : योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल के सहारे भाजपा 2024 लोक सभा चुनाव को भी साधने की कवायद कर रही है। इसलिए भाजपा आलाकमान और यूपी भाजपा कोर ग्रुप के नेता लगातार बैठक कर रहे हैं। भाजपा 2024 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए ऐसे नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल करना चाहती है जिनके जरिए तमाम मतदाताओं को साधा जा सके और लोकसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटें हासिल की जा सके।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश में सरकार गठन के मसले पर लखनऊ से लेकर दिल्ली तक जो बैठकें हुई हैं उसमें इलाके के हिसाब से चुनाव परिणामों की समीक्षा भी की जा रही है।

आईएएनएस को मिली जानकारी के अनुसार , योगी मंत्रिमंडल के गठन की कवायद को लेकर पार्टी के सभी जीते विधायकों की केटेगरी अनुसार एक लिस्ट तैयार की जा रही हैं । इस लिस्ट को तैयार करते समय विधायकों की जाति, क्षेत्र, उम्र, शिक्षा , अपने इलाके के साथ-साथ आस-पास के इलाकों में प्रभाव जैसे केटेगरी का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इन सभी तथ्यों के साथ ही महिला और पुरुष के आधार पर भी वर्गीकरण कर लिस्ट तैयार की जा रही है। इसमें विधान परिषद के वर्तमान और भविष्य में बनने वाले एमएलसी को भी ध्यान में रखा जा रहा है।

सरकार के गठन में सभी जातियों और इलाकों का संतुलन स्थापित करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है ताकि लोक सभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटें हासिल की जा सके। इसलिए घंटों तक चलने वाली बैठकों में इसे लेकर लगातार और विस्तार से होम वर्क किया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि इन सभी समीकरणों का ध्यान रखते हुए संभावित मंत्रियों की एक लिस्ट तैयार की जा रही है जिस पर अंतिम मुहर भाजपा आलाकमान द्वारा लगाई जाएगी।

आपको बता दें कि, 2014 के लोक सभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की कुल 80 सीटों में भाजपा गठबंधन के खाते में 73 सीटें आई थी। 71 सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार जीतें थे तो वहीं 2 सीटों पर भाजपा की सहयोगी अपना दल ( एस ) को कामयाबी मिली थी। 2019 के लोक सभा चुनाव में भाजपा गठबंधन को 51 प्रतिशत से ज्यादा मत मिला लेकिन उसकी सीटों की संख्या घटकर 64 रह गई। 2019 में भी भाजपा की सहयोगी दल अपना दल ( एस) को 2 सीटों पर कामयाबी मिली थी जबकि भाजपा के 62 उम्मीदवार जीत कर संसद पहुंचे थे। भाजपा 2024 के लोक सभा चुनाव में इस आंकड़े को बढ़ाना चाहती है और इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए योगी मंत्रिमंडल की रूप-रेखा तैयार की जा रही है।

Previous Post Next Post