इमरान खान ने मारी पलटी, भारत से व्यापार बहाली का आदेश वापस


इस्लामाबाद (मानवी मीडिया)- पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने भारत से व्यापार बहाली के मुद्दे पर यू टर्न ले लिया है। भारत से दोबारा व्यापार करने की बात करने वाले पाक ने कपास और चीनी के आयात के फैसले को पलट दिया है। पाकिस्तानी मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक इमरान खान की कैबिनेट ने भारत से कपास और चीनी आयात करने के कैबिनेट आर्थिक समन्वय समिति के फैसले को खारिज कर दिया है। भारत से कपास मंगाने की कपड़ा उद्योग मांग कर रहा है, वहीं कट्टरपंथी इस बात के लिए इमरान सरकार की आलोचना कर रहे थे कि वह कश्‍मीर में बदलाव हुए बिना ही भारत के सामने झुक गई।

पाकिस्तान की इकॉनोमिक कॉर्डिनेशन कमेटी (ईसीसी) ने बुधवार को भारत से आयात करने को हरी झंडी दे दी थी। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने गुरुवार को कहा कि फिलहाल भारत के साथ संबंध सामान्य होना मुमकिन नहीं है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, शाह महमूद कुरैशी ने कैबिनेट की बैठक के बाद कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान सहित पाकिस्तानी मंत्रिमंडल की आम राय है कि भारत जब तक कश्मीर को लेकर 5 अगस्त 2019 के फैसले पर दोबारा विचार नहीं करता, तब तक दोनों देशों के रिश्ते का सामान्य होना मुमकिन नहीं है। पाकिस्तान की ओर से फैसले को पलटने को लेकर आधिकारिक तौर पर कुछ कहा नहीं गया है। यदि  इकॉनमिक कॉर्डिनेशन कमिटी का फैसला लागू होता तो दो साल बाद भारत और पाकिस्तान के बीच कारोबार की शुरुआत होती। दरअसल अगस्त 2019 में भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत से कारोबार बंद करने का फैसला लिया था। बुधवार को ही पाकिस्तान के नए वित्त मंत्री हम्माद अजहर ने भारत के साथ कारोबार शुरू करने का ऐलान किया था। उन्होंने भारत से कपास और चीनी के आयात की बात कही थी। यही नहीं भारत से कारोबार शुरू करने के सवाल पर उन्होंने अपने फैसले का बचाव भी किया था।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र