अवैध मदिरा के सम्बन्ध में सूचना देने हेतु आबकारी विभाग ने जारी किये टोल फ्री एवं व्हाट्सऐप नम्बर

 अवैध मदिरा के सम्बन्ध में सूचना देने हेतु आबकारी विभाग द्वारा जारी किये गये

टोल फ्री एवं व्हाट्सऐप नम्बर

टोल फ्री नम्बर पर प्राप्त शिकायतों का किया गया त्वरित निस्तारण

आबकारी विभाग द्वारा जारी टोल फ्री नम्बर 18001805331 एवं व्हाट्सऐप नं0 9454466019 पर प्राप्त 55 में से 45 शिकायतों का हुआ निस्तारण

होली में विशेष प्रवर्तन अभियान के दौरान 1928 अभियोग पंजीकृत, 77,735 ली0 अवैध

 शराब बरामद


लखनऊ: (मानवी मीडिया)अपर मुख्य सचिव आबकारी  संजय आर. भूसरेड्डी द्वारा अवगत कराया गया है कि आबकारी मुख्यालय, प्रयागराज में एक कन्ट्रोल रूम स्थायपित किया गया है जो 20 मार्च, 2021 से 24×7 क्रियाशील है। विभाग द्वारा टोल फ्री नम्बर 18001805331 एवं व्हाट्सएप नम्बर 9454466019 जारी किया गया है जिस पर आम लोगों द्वारा अवैध शराब के निर्माण, बिक्री एवं तस्करी के सम्बन्ध में सूचना/शिकायत उपलब्ध कराई जा सकती है। कन्ट्रोल रूम में अब तक कुल 55 शिकायतें/सूचनायें प्राप्त हुई हैं, जिसमें से 45 मामलों का त्वरित निस्तारण कराया गया।

कन्ट्रोल रूम पर प्राप्त 4 शिकायतों पर कार्यवाही कराते हुए जनपद लखनऊ में एक व्यक्ति को अवैध रूप से बिक्री करते हुए 30 पौव्वे के साथ गिरफ्तार किया गया। प्राप्त सूचनाओं के आधार पर जनपद खीरी में दबिश कराये जाने पर 05 अभियोग पंजीकृत कराते हुए कुल 75 ली0 अवैध कच्ची शराब बरामद किया गया तथा 05 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। इसी प्रकार जनपद उन्नाव में 15 ली0 कच्ची शराब के साथ एक महिला को गिरफ्तार किया गया।

होली त्योहार एवं पंचायत चुनाव के दृष्टिगत आबकारी विभाग द्वारा पुलिस एवं प्रशासन के सहयोग से दिनांक 22 से 31 मार्च, 2021 तक विशेष प्रवर्तन अभियान चलाया गया। इस अभियान के दौरान प्रदेश में कुल 1928 अभियोग दर्ज किये गये, जिसमें 77,735 ली0 अवैध मदिरा बरामद की गयी। अवैध शराब के कारोबार में संलिप्त 772 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया तथा शराब के अवैध परिवहन में प्रयुक्त 44 वाहनों को पकड़ा गया।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र