चैनल ब्लॉक,फर्जी समाचारों पर केंद्र सरकार की डिजिटल स्ट्राइक,

नई दिल्ली (मानवी मीडिया): फर्जी समाचार फैलाने और भ्रामक जानकारी देने वाले यूट्यूब चैनलों के खिलाफ केंद्र सरकार का कड़ा रुख बरकरार है। केंद्र सरकार ने इस मामले में गुरुवार को छह यूट्यूब चैनलों को बैन कर दिया। ब्लॉक किए गए सभी चैनलों ने चुनावों, भारत के सर्वोच्च न्यायालय और भारत की संसद में कार्यवाही और भारत सरकार के कामकाज के बारे में गलत खबर और भ्रामक जानकारी फैला रहे थे। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। पीआईबी की ओर से बताया गया कि ये यूट्यूब चैनल दर्शकों को गुमराह करने के लिए टीवी चैनलों के टेलीविजन समाचार एंकरों के नकली, क्लिकबेट और सनसनीखेज थंबनेल और छवियों का उपयोग करते हैं। संवाद टीवी नाम से चल रहे एक यूट्यूब चैनल के 10 लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर थे। इस चैनल के जरिए भारत सरकार और केंद्रीय मंत्रियों के बारे में फेक न्यूज फैलाई जा रही थीं।

इन चैनलों ने लोगों को भरोसा दिलाने के लिए कई प्रमुख टीवी चैनलों के एंकरों की तस्वीर, क्लिकबेट और सनसनीखेज थंबनेल का प्रयोग करते थे। चैनलों ने इसका प्रयोग उनके द्वारा डाले गए वीडियो को मोनेटाईज करने और ट्रैफिक लाने के लिए कर रहे थे। केंद्र ने इस तरह की यह दूसरी कार्रवाई की है। इससे पहले सरकार ने 20 दिसंबर को बड़ी कार्रवाई की थी, जिसमें फर्जी खबर फैलाने वालों तीन चैनलों के खिलाफ कार्रवाई हुई थी।

Previous Post Next Post