निवेश का हब बन रहा उत्तर प्रदेश


लखनऊ : (मानवी मीडिया) समाज कल्याण विभाग,द्वारा उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम, जनजाति विकास विभाग एवं डिक्की द्वारा आज गोमती नगर, लखनऊ में निवेशकों व उद्यमियों के साथ उत्तर प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट - 2023 का आयोजन किया गया।

            कार्यक्रम  में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित समाज कल्याण मंत्री  असीम अरुण ने कहा कि यूपी को 1 ट्रिलियन और भारत को 5 ट्रिलियन इकोनामी बनाने के लिए निवेशकों का  योगदान महत्वपूर्ण है। उन्होंने  कहा कि प्रदेश के युवा अब सरकारी नौकरी पर ही निर्भर नहीं हैं बल्कि आज वह जॉब सीकर से जॉब क्रिएटर बन गए है। प्रदेश और देश के विकास में समान योगदान कर रहे है।

  सरकार की आर्थिक प्रगति की योजनाओं में सामाजिक न्याय और भागीदारी का अंश मौजूद है।केंद्र और प्रदेश के नेतृत्व में यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के द्वारा समावेशी विकास की अवधारणा  को फलीभूत किया जा रहा है।

 अरुण ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश को अपराधमुक्त बनाने के साथ ही आधारभूत संरचना जैसे हाईवे, एक्सप्रेस वे, रेल यातायात को सुगम बनाकर निवेश हेतु उत्तम माहौल विकसित किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार की पारदर्शी नीतियों, सुधारों और सुदृढ़ कानून व्यवस्था के माध्यम से यूपी भारत के सर्वाधिक पसंदीदा निवेश गंतव्य के रूप में उभर रहा है और निवेश का हब बन गया है।   श्री संजीव कुमार गोंड राज्य मंत्री समाज कल्याण द्वारा बताया गया कि जनजाति के उद्यमी भी अब प्रदेश के विकास में अपनी भूमिका निभा रहे है।  लाल जी निर्मल, चेयरमैन, उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम लिमिटेड ने अवगत कराते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में प्रधानमंत्री अनुसूचित जाति अभ्युदय योजना (पीएम-अजय) प्रारंभ की गई है जिससे प्रदेश के लोगो को रोजगार देने के साथ ही उद्यमी भी बनाया जा रहा है।

Previous Post Next Post