गांव के पोखर में मिली राम मंदिर के पुजारी की लाश, पैर बांध कर शव में बांधे गए थे पत्थर


मुजफ्फरपुर (मानवी मीडिया)  बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मनियारी थाना क्षेत्र के बाघी गांव में 50 वर्षीय एक मंदिर के पुजारी की लाश मिली है। अज्ञात लोगों ने पुजारी की हत्या करके शव को मंदिर के पास ही स्थित एक स्कूल के पीछे स्थित पोखर में डाल दिया। पुजारी के हाथ पैर बंधे थे और शव के साथ पत्थर भी बांधे गए थे। ताकि शव पानी के बाहर नहीं आ सके। सूचना मिलते ही मौके पर भारी भीड़ जुट गई। पुलिस को मामले की सूचना दी गई, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

मामला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के बाघी गांव का है। गांव में स्थित राम मंदिर में वह पिछले कई सालों से पुजारी थे। मंदिर में ही बने एक कमरे में वह रहते थे। बताया जा रहा है कि गांव की एक महिला को रोज सुबह भोर में मंदिर की साफ़-सफाई करने जाती थी वह मंगलवार की भोर में भी मंदिर की सफाई करने पहुंची। उसने पुजारी का कमरा खुला और सामान बिखरा पड़ादेखा तो उसे लगा कि पुजारी दरवाजा खोलकर ही गांव चले गए होंगे। लेकिन, काफी देर बाद भी वे नहीं लौटे।

पोखरे से व्यक्ति की लाश की सूचना पर पहुंचे लोग 

इसी बीच सूचना आई कि स्कूल के पीछे पोखर में एक युवक की लाश मिली है।  मौके पर स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गई। इसे सुनकर गांव के काफी सारे लोग वहां पहुंचे लाश जब पानी से बाहर निकाली गई तो लाश की पहचान हो सकी। लाश गांव के राम मंदिर के पुजारी कुढ़नी थाना क्षेत्र के बथना परैया निवासी अरविंद कुमार झा उर्फ मुनटुन झा की थी। जिसके बाद सूचना पुलिस को दी गई। 

पुलिस ने शुरू की मामले की जांच 

पुजारी के शव मिलने के बाद पुलिस जांच करने के लिए गांव स्थित राम मंदिर पहुंची। वहां उनके कमरे की जांच की गई। जांच में पता चला कि उनके कमरे में बिस्तर का चादर फर्श पर गिरा था। एक चप्पल व धोती भी गिरी थी। दरवाजा खुला था। मनियारी थानेदार कुमार संतोष रजक ने बताया कि जांच की जा रही है। हत्या समेत अन्य बिंदुओं पर भी जांच की जा रही है। पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

Previous Post Next Post