पहली बार महिला नाविकों की भर्ती, 3000 अग्निवीर करेंगे ज्वाइन

नई दिल्ली (मानवी मीडिया)-भारतीय नौसेना में पहली बार महिला नाविकों को सर्विस में शामिल किया जा रहा है। इस बारे में चीफ एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि भारतीय नौसेना में 3000 अग्निवीर ज्वाइन कर रहे हैं, जिसमें 341 महिलाएं हैं। उन्होंने यह भी बताया कि भारतीय नौसेना में उपलब्ध पदों के लिए अप्लाई करने वाले 10 लाख व्यक्तियों में से 82000 महिलाएं थीं। अगले साल से महिला अधिकारियों के लिए सभी ब्रांच को खोल दिया जाएगा।

  भारतीय नौसेना बन जाएगी आत्मनिर्भर..', नेवी-डे से पहले बोले नौसेना प्रमुख आर हरि कुमार, INS विक्रांत का भी किया जिक्र

नेवी-डे से एक दिन पहले भारतीय नौसेना की सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस को शनिवार को राजधानी दिल्ली में नौसेना प्रमुख एडमरिल आर हरि कुमार ने संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने आईएनएस विक्रांत की कमीशनिंग को ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा आईएनएस विक्रांत का कमीशन देश और नौसेना के लिए एक ऐतिहासिक घटना है और यह वास्तव में आत्मानिर्भरता का मशाल वाहक है। आर हरि कुमार ने कहा कि बहुत कम देश हैं जिनके पास एक विमानवाहक पोत बनाने की क्षमता है और अब हम विशिष्ट या चुनिंदा बैंड में से एक हैं। संवाद के दौरान मंच संचालक ने ‘अग्निपथ’ योजना से जुड़ा सवाल किया था, जिसके जवाब में एडमिरल कुमार ने कहा, ‘‘यह एक शानदार योजना है और मुझे लगता है कि इसकी लंबे समय से प्रतीक्षा हो रही थी और इसे कई साल पहले हो जाना चाहिए था।’’ उन्होंने कहा कि कारगिल समीक्षा समिति की रिपोर्ट में एक सिफारिश है कि सशस्त्र बलों में उम्र सीमा को नीचे लाने की आवश्यकता है। नौसेना प्रमुख ने कहा कि उस समय औसत उम्र 32 वर्ष थी और सिफारिश में कहा गया कि इसे कम करके लगभग 25-26 वर्ष तक लाया जाना चाहिए।

Previous Post Next Post