मंत्री ए0के0 शर्मा ने 75 जिला, 75 घंटे, 750 निकाय' के राज्य स्तरीय अभियान की शुरुआत की


लखनऊ (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री  ए0के0 शर्मा ने उत्तर प्रदेश को GVPs मुक्त प्रदेश बनाने के लिए आज प्रातः 7:00 बजे महाराणा प्रताप चौराहा, हुसैनगंज, लखनऊ से साफ सफाई एवं कूड़ा स्थलों को स्वच्छ बनाने के लिए प्रतिबद्ध: '75 जिला, 75 घंटे, 750 निकाय' के राज्य स्तरीय अभियान की शुरुआत की।

मंत्री  ने अभियान की शुरुआत करते हुए नागरिकों से अपील की है कि वे लोग अपने घरों, दुकानों, प्रतिष्ठानों से कूड़ा निकाल कर इधर-उधर न फेंके, बल्कि सूखा एवं गीला कूड़ा को अलग-अलग कर समय से निकायों को उपलब्ध कराएं, जिससे कि इस कूड़े का सदुपयोग किया जा सके।

मंत्री  ने अभियान की शुरुआत में आह्वान किया कि प्रदेश को 'हमारा यूपी, सुनहरा यूपी' बनाना है। उन्होंने कूड़ा स्थलों व गंदे स्थानों को साफ सुथरा बनाकर उपयोगी एवम् यादगार स्थानों के रूप में विकसित करने को कहा।

मंत्री ने सभी निकाय अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रदेश के सभी छोटे बड़े शहरों एवं निकायों के चिन्हित कूड़ा स्थलों (गार्बेज वाल्नेरेबल पॉइंटएस) को 75 घंटे के विशेष अभियान के दौरान ख़त्म किया जाय और लोगो के जीवन व पर्यावरण को श्रेष्ठ बनाया जाय।

मंत्री ने कहा कि सभी नगरीय निकाय आज शुरू हुए 75 घंटे के अभियान के दौरान सड़क व खाली प्लाटों में कचरा डालने वालों की रेकी करेंगे, जो लोग ऐसे स्थानों पर कूड़ा डालते हैं उन्हें चिन्हित भी करेंगे तथा 

अभियान में जन सहभागिता के लिए लोगों को अपने आसपास की साफ-सफाई बनाए रखने के लिए भी जागरूक किया जाए।

मंत्री  ने कहा कूड़ा वाले स्थानों की साफ-सफाई कर वहां पर नेकी की दीवार, सफाई चौकी, सेल्फी प्वाइंट, वार्टिकल गार्डन बनाए जाएं। ऐसे स्थानों का सुंदरीकरण कर बैठने के स्थान, बच्चों के खेलने के स्थान बनवाए जाएं। ऐसे स्थानों पर गमले रखवाया जाएं। पार्क व उद्यान भी विकसित कराए जाएं।

उन्होंने कहा कि लखनऊ में 700 से ज्यादा गंदे स्थान थे, जिन्हें पिछले 06 से 07 महीने में साफ सुथरा बनाकर वहां की गंदगी खत्म की गई। अभी भी 110 बचे हैं, जिन्हें भी इस अभियान में खत्म कर दिया जायेगा।

मंत्री ने इस स्थान पर (हुसैनगंज स्थित लाल कुआ ओवर ब्रिज के पास) नेकी की दीवार बनाने को भी कहा, जिससे कि लोग अपने घरों के अनुपयोगी सामान को यहां पर दान दे सके और इससे गरीबों की मदद की जा सके।

मंत्री  ने स्थानीय निवासी रिंकू मिश्रा से इस कार्यक्रम स्थल की गंदगी के बारे में पूछा, जिसकी सफाई कर सुंदर बनाया गया है। स्थानीय निवासी ने बताया कि यह तो बहुत गंदा स्थान था। यहां पर रहना और यहां से निकलना बहुत मुश्किल था। इतनी गंदगी थी।

स्थानीय निवासी धर्मेंद्र शर्मा ने सफाई कर्मचारियों के कार्यों की प्रशंसा की उन्होंने मंत्री जी से शिकायत की कि ओवर ब्रिज के नीचे लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है, जिससे अक्सर जाम लग जाता है और यहां के लोगों के घरों में गंदा पानी आ रहा है,जिसको मंत्री जी शीघ्र ही व्यवस्थित कराने का आश्वासन दिया।

मंत्री  ने पूजा पाठ की सामग्री और फूल माला को गोमती नदी में फेंकने से रोकने के लिए नगर निगम द्वारा हनुमान सेतु पर रखवाए गए अर्पण कलश को भी मौके पर जाकर देखा। उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देश दिए कि ऐसे अर्पण कलश गोमती नदी के सभी पुलों पर रखवाया जाएं, जिससे कि पूजा सामग्री को सीधे नदी में फेंकने के बजाय, लोग अर्पण कलश में डाले और वहां से नगर निगम एकत्रित कर उसका सदुपयोग करें। नदी में पूजा सामग्री और फूल माला फेंकने को रोकने के लिए हनुमान सेतु पर नगर निगम द्वारा अर्पण कलश रखवाया गया है। अब लोग पूजा सामग्री नदी में सीधे प्रवाहित करने के बजाय अर्पण कलश में डालेंगे। इसके लिए प्रेरित भी किया जायेगा।

कार्यक्रम में महापौर  संयुक्ता भाटिया, निदेशक नगरी निकाय  नेहा शर्मा, नगर आयुक्त  इंद्रजीत सिंह एवं अपर नगर आयुक्त तथा बड़ी संख्या में स्थानीय निवासी मौजूद थे।


Previous Post Next Post