उ0प्र0 बोर्ड परीक्षा में अनुचित साधनों की जांच के लिए होंगी सील पैक उत्तर पुस्तिकाएं

प्रयागराज (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश बोर्ड हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा 2023 में शामिल होने के लिए राज्य भर में पहली बार पंजीकृत करीब 58 लाख छात्र-छात्राओं को सिली हुईं उत्तर पुस्तिकाएं मिलेंगी। राज्य माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने कहा कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपीएमएसपी) के कदम का उद्देश्य नकल माफिया को विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर मेधावी छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं को जानबूझकर बदलने से रोकना है।

आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, बोर्ड के 10 संवेदनशील जिलों को सिली हुई उत्तर पुस्तिकाएं उपलब्ध कराने के प्रयोग के बाद लिया गया है, जहां 2020 में कुछ गड़बड़ झाला देखा गया था।

हाई स्कूल के 31,16,458 और इंटरमीडिएट के 27,50,871 सहित कुल 58,67,329 छात्र 2023 की परीक्षा में शामिल होंगे।

इस कदम का उद्देश्य परीक्षाओं को अनुचित साधनों से मुक्त बनाना भी है।

ऐसे कई मामलों में बोर्ड ने केंद्र प्रबंधकों और शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की है और इस तरह की घटनाओं को लेकर दोषी स्कूलों को परीक्षा से वंचित किया है।

इन जिलों में मथुरा, प्रयागराज, मुजफ्फरनगर, हरदोई, बलिया, जौनपुर, आजमगढ़, अलीगढ़, गाजीपुर और कौशांबी शामिल हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि इस वर्ष बोर्ड ने शासकीय मुद्रणालय के अधिकारियों से अनुरोध किया है कि सभी 75 जिलों को केवल सील पैक उत्तर पुस्तिकाएं प्रदान की हैं।

Previous Post Next Post