उद्धव ठाकरे का दर्द और गहरा करने की तैयारी में भाजपा


मुंबई (मानवी मीडिया
बीएमसी चुनाव को लेकर भाजपा की तैयारियां तेज हो गई हैं। इस सिलसिले में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दो दिन के मुंबई दौरे पर पहुंचने वाले हैं। इस दौरान वो मुंबई और महाराष्ट्र के नेताओं के साथ अहम मीटिंग करने वाले हैं। बताया जा रहा है कि अमित शाह का यह मुंबई दौरा ‘मिशन मुंबई’ को अंजाम देने में काफी अहम हो सकता है। असल में भाजपा बीएमसी पर शिवसेना के तीन दशक पुराने राज को खत्म करना चाहती है। पार्टी यहां पर दो साल पहले के हैदराबाद निकाय चुनाव के नतीजों को दोहराने की उम्मीद में हैं। 

सीटों बंटवारे और गठबंधन पर भी नजर
अमित शाह 4 और 5 सितंबर को मुंबई दौरे पर हैं। शाह के इस आधिकारिक दौरे के दौरान कुछ मुंबई में अनौपचारिक बैठकें भी होनी हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस दौरे पर शाह के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद होंगे। एक वरिष्ठ भाजपा नेता के मुताबिक शाह रविवार शाम को मुंबई पहुंचेंगे। इसके बाद वह लालबाग और बांद्रा में गणेश पांडाल में दर्शन करेंगे। इसके अलावा वह कुछ रिश्तेदारों से भी मुलाकात करेंगे। रविवार को ही वह मुंबई और महाराष्ट्र के कुछ प्रमुख नेताओं के साथ सह्याद्रि गेस्टहाउस में मीटिंग कर सकते हैं। इस दौरान प्रमुख रूप से मुंबई के नगर निकाय चुनावों पर ही चर्चा होगी। इसके अलावा शिंदे गुट के साथ सीटों के बंटवारे, राज ठाकरे की मनसे के साथ गठबंधन और शिवसेना को हराने संबंधी नीतियों पर भी चर्चा होने की उम्मीद है।

इतनी सीटें जीतने का लक्ष्य
भाजपा ने बीएमसी चुनाव में 115 से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। उसका लक्ष्य देश के सबसे अमीर स्थानीय निकाय से शिवसेना का कब्जा खत्म करने का है। इसके लिए वह कोई भी कसर बाकी नहीं रखना चाहती है। गौरतलब है कि 227 सीटों वाली बीएमसी में भाजपा ने 2017 में 82 सीटें जीती थीं। उस साल वह शिवसेना के 84 सीटों के मुकाबले केवल दो सीट से पीछे रह गई थी। अब भाजपा चाहती है कि जिस तरह हैदराबाद में स्थानीय निकाय के चुनाव में प्रमुख नेताओं ने पार्टी को जीत दिलाई थी, वैसा ही कुछ मुंबई में भी हो। इस बीच बीते हफ्ते मुंबई भाजपा के प्रमुख आशीष शेलार ने कहा कि यह हैदराबाद मॉडल नहीं होगा, यह मुंबई मॉडल होगा। 

मुंबई ही नहीं, सभी निकायों की चर्चा
वहीं एक अन्य वरिष्ठ नेता और राज्य सरकार में पूर्व मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस की शाह से अलग मीटिंग होगी। इस वरिष्ठ नेता का यह भी कहना है कि इस दौरान शाह केवल मुंबई ही नहीं, बल्कि सभी स्थानीय निकाय चुनावों के बारे में चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की 75 फीसदी से ज्यादा स्थानीय निकायों में चुनाव होने हैं। इन्हें मिनी विधानसभा चुनाव के तौर पर जाना जा रहा है। उन्होंने कहा कि फिलहाल करीब सभी सीटों पर भाजपा का नियंत्रण है और इसको बरकरार रखना एक अलग चुनौती है। ऐसे में उम्मीद है कि अमित शाह इन सभी सीटों पर चुनाव की तैयारियों का जायजा लेंगे। 

Previous Post Next Post