पेड़ से लटका मिला हिंदू युवक का शव, धर्म परिवर्तन नहीं करने पर हत्या का आरोप


गुवाहाटी (मानवी मीडिया) अपनी प्रेमिका के घर कथित तौर पर बुलाए जाने के एक दिन बाद सोमवार को असम के एक चाय बागान में एक 20 वर्षीय युवक पेड़ से लटका मिला. घटना के बाद जिले में तनाव और विरोध शुरू हो गया है. बीकी बिशाल के परिवार का आरोप है कि धर्म परिवर्तन से इनकार करने पर उसकी प्रेमिका के परिवार ने उसकी हत्या कर दी. परिवार के अनुसार उसकी आंख, नाक और कान पर खून लगा था.

दो चर्च अधिकारी, लड़की के पिता और चाचा सहित पांच लोगों को लखीमपुर में गिरफ्तार किया गया है. बीकी बिशाल ने आत्महत्या की ये हत्या की गई इसकी जांच की जा रही है. परिवार का कहना है कि उसकी मौत से एक हफ्ते पहले 3 सितंबर को बीकी विशाल अपनी प्रेमिका के साथ भाग गया था और उसे घर ले आया था. वे एक ही आदिवासी समुदाय से हैं, लेकिन वह एक हिंदू है और लड़की एक ईसाई है.

उसका परिवार चर्च के कुछ अधिकारियों के साथ उसके घर आया और लड़की को जबरन ले गया. सोमवार को विशाल को एक और फोन आया और वो भी चला गया. उनका दावा है कि कॉल उनकी प्रेमिका के परिवार से था और उन्होंने उसे मार डाला और एक पेड़ से लटका दिया.

मामले को देख रहे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने एनडीटीवी को बताया, "ऐसे आरोप हैं कि लड़की के परिवार ने चर्च के दो अधिकारियों की मदद से बिशाल पर लड़की से शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया, लेकिन वह नहीं माना."

अधिकारी ने कहा, "हम इस पहलू की जांच कर रहे हैं और अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें सात दिन के पुलिस रिमांड पर ले लिया है. यह लिंचिंग का मामला नहीं है जैसा कि हमारी प्रारंभिक जांच से प्रतीत होता है, लेकिन हमें यह पता लगाना होगा कि यह आत्महत्या का मामला है या नहीं, या उसे मार दिया गया और उसे फांसी दे दी गई. हम सभी पहलुओं को देख रहे हैं."

एक दक्षिणपंथी समूह के सदस्यों सहित विशाल के गांव के लोग उनके परिवार को न्याय दिलाने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि "जबरन धर्मांतरण" से लड़ने के लिए एक हिंदू व्यक्ति की हत्या की गई.

बिशाल के पड़ोसी अरूप बरेक ने संवाददाताओं से कहा, "हमें उसकी नाक, कान और आंखों पर खून मिला है. इससे हमें लगा कि वह आत्महत्या से नहीं मरा, बल्कि उसकी हत्या कर उसे फांसी पर लटका दिया गया."

बेरेक ने कहा, "लड़की का परिवार इस घटना के पीछे है, क्योंकि वह शादी के लिए भाग गई थी और लड़के के घर आई थी. चूंकि वह नाबालिग है, इसलिए विशाल के परिवार ने उससे मिलने और मामले पर चर्चा करने के लिए कहा था, लेकिन उसके परिवार के सदस्य बहुत सारे लोगों और लाठी के साथ आए और उसकी पिटाई की."

Previous Post Next Post