चहक से चहका प्रांगण प्राथमिक विद्यालय अलीनगर खुर्द सरोजनी नगर

लखनऊ (मानवी मीडिया) प्राथमिक विद्यालय अलीनगर खुर्द सरोजनी नगर, लखनऊ में चहक कार्यक्रम के द्वितीय चरण को मनाते हुए अभिभावकों ,बच्चों और जनप्रतिनिधियों के आपसी सहयोग को दर्शाता कार्यक्रम संपन्न हुआ

       प्राथमिक विद्यालय अलीनगर खुर्द में चहक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर इं•जय प्रकाशकार्मिक ट्रस्टी एवं सदस्य,

उप्र पावर कारपोरेशन सी•पी•एफ• ट्रस्ट बोर्ड तथा  विशिष्ट अतिथि के तौर पर समाजसेवी व विधायक प्रतिनिधि अरुणेश व्यास  उपस्थित हुए।

        जैसा की विदित है बेसिक स्कूलों में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कक्षा एक के बच्चों को चहक कार्यक्रम के तहत खेल खेल में पढ़ना सिखाना ,कविताओं गीतों और कहानियों के माध्यम से ज्ञान प्रदान करने का कार्यक्रम है जिसके तहत उनके अभिभावकों के सामने चेक कार्यक्रम के दूसरे चरण में 3 महीनों में बच्चों के द्वारा किए गए कार्यों और बनाई गई रचनाओं को पोर्टफोलियो के माध्यम से अभिभावकों के साथ साझा किया। बच्चों द्वारा  सीखी गई गतिविधियों को कविता ,कहानी कार्यक्रम मे  बच्चों ने प्रस्तुतीकरण से दिखाया गया।

 मुख्य अतिथि के तौर पर बोलते हुए इंजीनियर जयप्रकाश  ने बच्चों और अभिभावकों को बताया कि विद्यालय रोज जाने से किस प्रकार धीरे-धीरे करके बच्चों का ज्ञान  सुदृढ़ होता है । बच्चों अनुशासन साफ-सफाई ,नैतिकता से रहने का ज्ञान भी प्राप्त होता है। उन्होंने बताया कि वह स्वयं अभाव और संघर्ष के जीवन में रहकर पढ़ाई गांव के प्राइमरी स्तर के स्कूलों में की है और आज लगातार पढ़ाई करने का ही नतीजा है कि समाज में एक प्रतिष्ठित पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने माताओं से यह आश्वासन लिया कि वह अपने बच्चों को हर परिस्थिति में विद्यालय भेजकर पढ़ाई अवश्य कराएं  साथ ही नशा मुक्त अभियान से जोड़ते हुए उपस्थित अभिभावकों और बच्चों को नशा मुक्त रहने का संकल्प कराया, नशा मुक्त हिंदुस्तान और अभियान कौशल का से रोज एक नए अभिभावक को जोड़ने का आश्वासन लिया।

       किस प्रकार नशे की लत में पढ़कर बच्चे अपना भविष्य बर्बाद करते हैं किस प्रकार नशे के कारण गंभीर बीमारियां लगती हैं और किस प्रकार उनके इलाज में पूरा पैसा खत्म हो जाता है, किस प्रकार नशे की लत से रोज सड़कों पर एक्सीडेंट होते हैं इन सभी घटनाक्रमों को अभिभावकों और बच्चों को समझाया ।उनके जीवन में उजाला पढ़ाई से ही संभव है यह बताया। यह कार्यक्रम की सफलता के लिए सहायक अध्यापक नसीम शहर की तारीफ की।


    विशिष्ट अतिथि के तौर पर बोलते हुए अरुणेश व्यास जी ने बच्चों को विद्यालय प्रांगण में लगे हुए झूलों और खेल खेल में शिक्षा के महत्व को बताया यदि उनका शरीर स्वस्थ रहेगा, खेलेंगे कुदेगे तो उनका मस्तिष्क भी स्वस्थ रहेगा और एक दिन पढ़ लिखकर यही बच्चे देश और समाज का नाम रोशन करेंगे।

          मेधावी बच्चों को उपस्थित अतिथियों के द्वारा पुरस्कृत किया गया ।बच्चों को कॉपी सहित लिखने की सामग्री और स्टेशनरी दी गई। रोजमर्रा की पढ़ाई के लिए आवश्यक सामग्री को पाकर सभी बच्चों के चेहरे खिल गए तथा अभिभावकों ने भी इस प्रयास की बहुत ही सराहना की। अभिभावकों ने बताया कि वह अपने बच्चों को तथा अन्य बच्चों को भी प्रेरित करते हैं कि वह विद्यालय जरूर जाएं कुछ प्रतिशत ना जाने वाले विद्यार्थियों को अभियान के तहत जोड़ने का आश्वासन दिया।

         प्राथमिक विद्यालय अलीनगरखुर्द के चहक कार्यक्रम में रीना त्रिपाठी नसीम सेहर, सतीश कुमार ,सरिता यादव सहित रसोईया अभिभावकों और बच्चों ने प्रतिभाग किया। बच्चों ने कहानियां गीत और कविताओं के द्वारा अपना प्रस्तुतीकरण सभी के सामने रखा।

     रीना त्रिपाठी ने सभी अतिथियों व अभिभावकों का धन्यवाद देते हुए विद्यालय में विद्युत से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए उपस्थित बिजली विभाग के कर्मचारी इंजीनियर मनोज यादव जी का आभार व्यक्त किया।

Previous Post Next Post