जल का प्रयोग प्रसाद की तरह करना चाहिए-स्वतंत्र देव'

लखनऊ (मानवी मीडिया)जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव ने कैंट मंडल -3 में स्थित डीएवी पीजी कॉलेज ,आर्य नगर में आयोजित संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि जल का प्रयोग प्रसाद की तरह करना चाहिए। पानी के अभाव में जीने वाला ही इसका मूल्य समझता है ।आज जल है तो कल है की भावना को आत्मसात करते हुए प्रत्येक नागरिक को जल संरक्षण के अभियान के साथ जुड़ना पड़ेगा उसे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाना पड़ेगा। समाज जब कोई योजना अपने हाथ में लेता है तभी योजना सफल होती है। इन गोष्ठियों का उद्देश्य ही समाज को जागरूक करना है। उनको समझाना है कि पानी की बचत कैसे हो सकती है पानी को बर्बाद नहीं करना है यह बताना है ।यह देश हित और राष्ट्र के हित में है। उन्होंने कहा भूगर्भ जल में सुधार के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग को जन आंदोलन बनाना होगा।  जनसंख्या वृध्दि, शहरीकरण तथा औद्योगिकीकरण के कारण प्रति व्यक्ति के लिए उपलब्ध जल की मात्रा लगातार कम हो रही है जिससे उपलब्ध जल संसाधनों पर दबाव बढ़ता जा रहा है तथा भूमिगत जलस्तर तेजी से गिर रहा है इसलिए जल संरक्षण की आवश्यकता है।  जल संरक्षण हमें घर में व घर के बाहर बाग बगीचों खेत खलियान हर जगह करना चाहिए। महानगर अध्यक्ष एमएलसी मुकेश शर्मा ने कहा शहरों में पानी का बहुत दुरुपयोग होता है हम छोटे-छोटे उपाय जैसे कार धोने पाइप की बजाय बाल्टी का प्रयोग ,बाग बगीचे में फव्वारे से पानी देकर, शावर से नहाने के बजाय बाल्टी का प्रयोग,ब्रश करते समय गिलास अथवा मग का प्रयोग करके, अपने घर की छतों से वर्षा जल व्यर्थ ना हो इसके लिए रूफटॉप हार्वेस्टिंग प्रणाली को लगाकर जल संरक्षित करें। स्वतंत्र देव व मुकेश शर्मा क्षेत्र में पद संचलन करके लोगों को जल संरक्षण के पत्रक बांटे कार्यक्रम में मुख्य रूप से पूर्व विधायक सुरेश तिवारी मंडल अध्यक्ष विनायक पांडे, मंडल महामंत्री दिलीप गुप्ता आलोक विश्वकर्मा वार्ड अध्यक्ष अमन द्विवेदी व अन्य सम्मानित जन उपस्थित रहे।


Previous Post Next Post