NCRB आंकड़ों में उत्तर प्रदेश की सरकार की कानून व्यवस्था की झूठी हकीकत सामने

लखनऊ (मानवी मीडिया) भाजपा और RSS की दलित विरोधी मानसिकता को समाप्त नही किया जा सकता नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़े इसका प्रमाण* 

   तथ्यों में हेरा फेरी करने से सच नही बदल जाता, और सच यह है कि भाजपा सरकार में लगाता अपराध में वृद्धि हो रही है, NCRB के आंकड़ों ने भाजपा के कुशासन की सच्चाई उजागर कर दी है और यह भी प्रमाणित कर दिया है कि अब भाजपा & RSS की दलित विरोधी मानसिकता को बदला नहीं जा सकता,BJP लोक कल्याण की भावना से सरकार चलाने में अक्षम है

  मीडिया संयोजक/प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों में बच्चों, महिलाओं और दलितों पर अपराधों में बेतहाशा वृद्धि और युवाओं/दैनिक वेतन कर्मचारी/लेबर के आत्महत्या में वृद्धि पर भाजपा सरकार की अक्षम और लोककल्याण विरोधी कार्यप्रणाली को घेरते हुए कहा NCRB के आंकड़ों में हेराफेरी करने से सच नही बदल जाएगा,मुख्यमंत्री जी आपकी असफल कार्यशैली से प्रदेश अपराध और अपराधियों की भेंट चढ़ गया है 

     आपकी और आपकी सरकार की अक्षम कार्यशैली पूरे प्रदेश पर भारी पड़ रही है, यही कारण है कि प्रदेश में चाहें बच्चों के ऊपर अपराध हो, चाहे महिलाओं के ऊपर हो या नौजवानो की आत्महत्या की घटनाएं हो या दलितों के ऊपर, लगातार सभी के साथ अपराध की घटनाएं बढ़ रहीं हैं , 2021 में पूरे देश में 149404 अपराध बच्चों के साथ हुए जो कि 2020 के मुकाबले काफी बढ़ोत्तरी हुई है,2021 में पास्को एक्ट के 36% प्रतिशत अपराध हुए जिसमें पास्को एक्ट में सबसे ज्यादा अपराध उत्तर प्रदेश में हुए जिनकी संख्या 7129 इसका प्रमाण है, 

 प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने महिला अपराधों पर प्रदेश में बेतहाशा वृद्धि पर कहा कि मुख्यमंत्री सहित पूरी सरकार तथ्यों को घुमाने और छिपाने में लगी है लेकिन इस हेराफेरी से सच नही बदलेगा , उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर अपराध में बढ़ोत्तरी सबसे ज्यादा है, 428278 महिला अपराधों में पूरे देश में 284 मर्डर विद गैंगरेप की जघन्य घटनाएं हुईं जिसमें सबसे ज्यादा 48 उत्तर प्रदेश की भाजपा आदित्यनाथ सरकार में हुईं,

प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने दलितों पर अपराध की बढ़ती घटनाएं पर कहा भाजपा और RSS की दलित विरोधी मानसिकता कभी बदल नही जा सकती सकती, भाजपा की इसी मानसिकता से पूरे देश ओर ख़ासतौर पर प्रदेश में दलितों पर अत्याचार में बढ़ोत्तरी हुई है, इन अपराधों के आंकड़ो पर जनमानस सवाल कर रहा है कि भाजपा सरकार , चाहे वह महिलाएं हों,दलित हो या युवा , किसी को सुरक्षा का माहौल क्यों नहीं दे पा रहे ,सबके अंदर डर का वातावरण क्यों है आज के नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े इस बात का प्रमाण है कि भाजपा लोकतंत्र को तो लूट तंत्र बनाती है लोगों के अधिकार समाप्त करती है लेकिन उनको सरकार चलाना, लोक कल्याण करना नहीं आता


Previous Post Next Post