DRDO ने की लेजर-गाइडेड ATGM का किया सफल परीक्षण, भारत की बड़ी ताकत


नई दिल्ली(मानवी मीडिया): रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने आज लेजर-गाइडेड एटीजीएम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। सक्सेसफुल टेस्टिंग के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ और भारतीय सेना की जमकर प्रशंसा की है। सेना की ताकत में इजाफा करने के लिए रक्षा मंत्री ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव और डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ जी सतीश रेड्डी ने लेजर गाइडेड एटीजीएम के परीक्षण फायरिंग से जुड़ी टीमों को बधाई दी। बताया जा रहा है कि डीआरडीओ ने एटीजीएम को मल्टी-प्लेटफॉर्म लॉन्च क्षमता के साथ विकसित किया है। वर्तमान में स्वदेशी एमबीटी अर्जुन की 120 मिमी राइफल्ड गन से इस नई तकनीकी परीक्षण किया गया।

लेजर-गाइडेड एटीजीएम स्वदेशी रूप से विकसित किया गया है। डीआरडीओ और भारतीय सेना द्वारा केके रेंज में मुख्य युद्धक टैंक (एमबीटी) अर्जुन से 4 अगस्त को आर्मर्ड कोर सेंटर एंड स्कूल (एसीसी एंड एस) अहमदनगर के समर्थन से सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। आज के परीक्षणों के साथ, न्यूनतम से अधिकतम सीमा तक लक्ष्यों को शामिल करने की एटीजीएम की क्षमता की स्थिरता सफलतापूर्वक स्थापित की गई है। टेस्ट के दौरान मिसाइलों ने सटीकता के साथ टॉर्गेट को हिट किया और दो अलग-अलग रेंज में लक्ष्यों को सफलतापूर्वक हिट किया।

Previous Post Next Post