देश के इतिहास में पहली बार, सुप्रीम कोर्ट की कार्यवाही की हुई लाइव स्ट्रीमिंग

नई दिल्ली (मानवी मीडिया): सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई के लिए लाइव-स्ट्रीमिंग की सिफारिश करने के तीन साल से अधिक समय के बाद शुक्रवार को इतिहास में पहली बार, सुप्रीम कोर्ट की कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया गया। भारत के चीफ जस्टिस एन.वी. रमना की पीठ की कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया गया।

सुप्रीम कोर्ट ने एक नोटिस में कहा, कृपया ध्यान दें कि भारत के माननीय मुख्य न्यायाधीश के सेवनिवृत्ति की पूर्व संध्या पर, माननीय मुख्य न्यायाधीश की अदालत की कार्यवाही, यानी समारोह पीठ 26 अगस्त, 2022, सुबह 10:30 बजे की कार्यवाही एनआईसी के वेबकास्ट पोर्टल के माध्यम से लाइव स्ट्रीम किया जाएगा। शीर्ष अदालत द्वारा जारी इस नोटिस में एक लिंक भी शेयर किया गया और लिखा कि उपरोक्त लिंक को सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट से भी एक्सेस किया जा सकता है।

न्यायमूर्ति रमना ने अपने अंतिम कार्य दिवस पर मुख्य न्यायाधीश-नामित न्यायमूर्ति यू.यू. ललित के साथ पीठ साझा की। न्यायमूर्ति ललित को हाल ही में भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया और सीजेआई रमना की सेवानिवृत्ति के बाद वह पदभार ग्रहण करेंगे।

शीर्ष अदालत ने पहली बार सीजेआई की अदालत में सूचीबद्ध मामलों की सुनवाई और आदेशों की घोषणा का सीधा प्रसारण किया। फ्रीबी पर शीर्ष अदालत का आदेश उन आदेशों में शामिल था, जिनका सीधा प्रसारण किया गया। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि अदालती कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग आगे होगी या नहीं।

2018 में, शीर्ष अदालत ने फैसला सुनाया कि अदालती कार्यवाही का सीधा प्रसारण संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत न्याय प्राप्त करने के अधिकार का हिस्सा है। छह हाईकोर्ट यूट्यूब पर अपने चैनलों के माध्यम से कार्यवाही का सीधा प्रसारण कर रहे हैं।

Previous Post Next Post