तीन दोस्तों ने छात्रा का गैंगरेप कर सड़क किनारे फेंका:प्राइवेट पार्ट को दांत से काटा

तीन दोस्तों ने छात्रा का गैंगरेप कर सड़क किनारे फेंका:प्राइवेट पार्ट को दांत से काटा; 14 दिन से चल रहा इलाज पुलिस ने लड़की को पागल बताया

लखनऊ (मानवी मीडिया)प्रयागराज में नाबालिग पीड़िता के साथ तीन लोगों ने गैंगरेप किया। इस दौरान आरोपियों ने हैवानियत की सभी हदें पार कर दीं। शराब के नशे में धुत आरोपियों ने लड़की के प्राइवेट पार्ट को जख्मी कर दिया। साथ ही उसके नाजुक अंगों को दांत से इस कदर काटा कि गहरे घाव हो गए आरोपी उसे मरणासन्न अवस्था में सड़क किनारे फेंक कर फरार हो गए मामला प्रयागराज के कौंधियारा थाना क्षेत्र के एक गांव का है। पीड़िता का पिछले 14 दिन से अस्पताल में इलाज चल रहा है अभी भी उसकी हालत गंभीर है

*10 अगस्त की रात लड़की को उठा ले गया था आरोपी*
कौंधियारा थाना क्षेत्र के एक गांव में एक लड़की अपनी मां, दादी और एक छोटी बहन के साथ रहती है। उसके बाबा और पिता मुंबई में प्राइवेट नौकरी करते हैं। इस साल लड़की ने यूपी बोर्ड से 12वीं की परीक्षा पास की है। लड़की का अपने गांव में ही रहने वाले एक लड़के से अफेयर चल रहा था। वह अक्सर लड़के से छिप-छिप कर मिलती थी
10 अगस्त की रात करीब 11 बजे उस युवक ने लड़की के मोबाइल पर कॉल की। थोड़ी देर इधर-उधर की बात करने के बाद उसे मिलने के लिए घर से थोड़ी दूर बुलाया जब लड़की उससे मिलने पहुंची, तो लड़का अपनी कार के साथ वहां खड़ा मिल गया उसने लड़की को कार में बैठा लिया। इसके बाद वह लड़की को काफी दूर एक कमरे में ले गया। वहां उसके दो दोस्त भी थे। इसके बाद वहां तीनों लड़कों ने उससे गैंगरेप किया इतना ही नहीं, लड़कों ने उसके प्राइवेट पार्ट को जख्मी कर दिया साथ ही लड़की के पूरे शरीर पर दांतों से काटकर गहरे जख्म कर दिए लड़की तड़पती रही, लेकिन लड़कों ने उसे छोड़ा नहीं। इसके बाद तीनों लड़के उसे कार से कौंधियारा थाने से एक किलोमीटर दूर फेंककर भाग गए
*सड़क पर मरणासन्न हालत में पड़ी थी पीड़िता*
लड़की काफी देर तक वहां पड़ी कराहती रही, लेकिन किसी की उस पर नजर नहीं पड़ी। आधी रात को गश्त के दौरान कौंधियारा पुलिस ने उसको सड़क किनारे पड़ा देखा। इसके बाद पुलिस वाले उसे थाने उठा लाए। फिर उसकी पहचान करने के लिए आस-पास के लोगों को बुलाया। एक आदमी ने पुलिस को उस लड़की के बारे में बताया। इसके बाद पुलिस ने लड़की को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एडमिट कराया। साथ ही लड़की के घर वालों को सूचना दी लड़की की हालत में सुधार नहीं होता देख डॉक्टरों ने उसे स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल (SRN) में रेफर कर दिया इस बीच पिता और बाबा भी मुंबई से आ गए इसके बाद परिवार वालों ने लड़की को यमुनापार के एक अस्पताल में एडमिट कराया है अभी उसका इलाज चल रहा है।

*ये फोटो रेप पीड़िता के बाबा की है, जिन्होंने उस दिन का पूरा सच बताया।*
परिजनों का आरोप- आरोपियों को बचा रही कौंधियारा पुलिस बातचीत के दौरान पीड़िता के बाबा ने आरोप लगाया उन्होंने बताया, ''मेरी पोती के साथ तीन लोगों ने गलत काम किया है उसको जानने वाले गांव के लड़के ने उसे 10 अगस्त की रात घर से बाहर बुलाया उसे उठा ले गए बाबा ने आरोप लगाया, ''कौंधियारा पुलिस को मैंने 18 अगस्त को तहरीर दी थी मगर, पुलिस ने उसके आधार पर FIR नहीं दर्ज की है। पुलिस मनगढ़ंत कहानी बनाकर आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रही है *पुलिस ने पीड़िता को घोषित किया मानसिक अस्वस्थ, दुर्घटना में दर्ज किया मुकदमा*
कौंधियारा पुलिस ने FIR दर्ज करने में खेल किया है पुलिस ने FIR में पीड़ित नाबालिग को मानसिक अस्वस्थ बताया है, जबकि उसने इसी साल इंटर की परीक्षा पास की है। परिजनों का आरोप है कि अगर वह पागल है, तो कैसे इंटर तक की पढ़ाई कर ली बाबा ने आरोप लगाया कि पुलिस ने खुद अपनी ओर से एप्लीकेशन तैयार कर दुर्घटना में मुकदमा कर दिया है। पुलिस की FIR में लिखा है कि पीड़िता सड़क पार कर रही थी तभी किसी अज्ञात वाहन ने उसे टक्कर मार दी, जिससे वह घायल हो गई पुलिस ने पीड़ित किशोरी को मानसिक तौर पर अस्वस्थ बताया है वहीं इस मामले में शैलेष कुमार पाण्डेय एसएसपी प्रयागराज का कहना है कि घटना के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है, ऐसा हुआ है तो जो भी दोषी है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Previous Post Next Post