बेटी पर टिप्पणी को लेकर स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेताओं को भेजा कानूनी नोटिस


नई दिल्ली (मानवी मीडिया
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अपनी बेटी को लेकर दिए बयानों के मामले में कथित तौर पर कांग्रेस नेता पवन खेड़ा, जयराम रमेश, नेता डिसूजा के साथ-साथ कांग्रेस का कानूनी नोटिस भेजा है। रिपोर्ट के मुताबिक नेताओं से ईरानी ने लिखित में बिना शर्त माफी मांगने और अपने आरोपों की तत्काल वापस लेने के लिए कहा है। एक दिन पहले शनिवार को ईरानी ने कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए किसी भी गलत काम का सबूत दिखानी की बात कही थी।

दरअसल, शनिवार को कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने प्रेस कांफ्रेंस करके स्मृति ईरानी पर गंभीर आरोप लगाए। कहा कि उनकी 18 साल की बेटी के नाम पर बार चलाया जा रहा है। कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा 'हम मांग करते हैं कि पीएम तुरंत स्मृति ईरानी का इस्तीफा लें। ईरानी पर ये आरोप नहीं दस्तावेज हैं जिन्हें आरटीआई से लिया गया है। स्मृति ईरानी की बेटी के द्वारा गोवा में चल रहे बार पर फर्जी लाइसेंस रखने का आरोप है। ये सब गैरकानूनी तरीके से हुआ।'

ईरानी बोली- कांग्रेस ने बेटी की चरित्र पर प्रहार किया

शनिवार को ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के आरोप को दुर्भावनापूर्ण बताते हुए शनिवार को खारिज कर दिया कि उनकी बेटी गोवा में एक अवैध बार चलाती है। ईरानी ने दावा किया कि नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया और राहुल गांधी की '5,000 करोड़ रुपये की लूट'' पर उसकी मां के मुखर रुख के कारण एक कॉलेज छात्रा (केंद्रीय मंत्री की पुत्री) को निशाना बनाया गया है। ईरानी ने कहा कि कांग्रेस ने उनकी बेटी के चरित्र पर प्रहार किया और उसे 'क्षत विक्षत' किया। उन्होंने विपक्षी दल कांग्रेस को किसी भी गलत काम का सबूत दिखाने की चुनौती दी।

2024 के लिए कांग्रेस को चुनौती

उन्होंने कहा, मेरी बेटी की गलती यह है कि उसकी मां ने सोनिया और राहुल गांधी द्वारा 5,000 करोड़ रुपए की लूट पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करती है। उसकी गलती यह है कि उसकी मां ने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा। ईरानी ने राहुल गांधी को 2024 में फिर से अमेठी लोकसभा सीट से लड़ने की चुनौती दी और संकल्प लिया कि वह उन्हें फिर से परास्त करेंगी। उन्होंने आरोप पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा, मैं कानून की अदालत और लोगों की अदालत में जवाब मांगूंगी।

Previous Post Next Post