पिछड़ा वर्ग कल्याण व दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग का 100 दिन के रोड मैप का कार्य पूर्ण-नरेन्द्र कश्यप

लखनऊ: (मानवी मीडिया)उ0प्र0 सरकार के पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), श्री नरेन्द्र कश्यप ने आज यहां लोक भवन के मीडिया सेन्टर में आयोजित प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के 100 दिन के अन्तर्गत लक्षित रोड मैप के सभी निर्धारित कार्यों को बहुत ही कुशलता के साथ पूर्ण कर लिया गया है।

 नरेन्द्र कश्यप ने कहा कि पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के अन्तर्गत 100 दिन के रोड मैप के आधार पर कुल पांच विकास कायों का लक्ष्य बना कर कार्य प्रारंभ किया गया था, जिसमें, 1-निर्माणाधीन तीन छात्रावासों के कार्यों को पूर्ण करके लोकार्पण कराना-इस मद में निर्माणाधीन दो छात्रावास (अम्बेडकर नगर एवं आजमगढ़) के निर्माण काये को शत-प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है। निर्माण कार्य की कुल लागत धनराशि क्रमशः 207.74 लाख रुपये, दोनों ही निर्माण कार्यों के सापेक्ष निर्गत की जा चुकी है तथा गोरखपुर छात्रावास का निर्माण कार्य भी अन्तिम रूप में पूर्ण होने की स्थिति में है।
पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ने बताया कि शादी अनुदान योजना के अन्तर्गत मार्च, 2022 में आवेदन करने वाले समस्त पात्र-192 लाभार्थियों को 38.40 लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया है, 3-कम्प्यूटर प्रशिक्षण योजना में प्रदेश स्तर पर 280 संस्थाओं का चयन कर लिया गया है तथा कम्प्यूटर प्रशिक्षण योजना हेतु 7,015 आवेदकों को ‘ओ लेवल’ कम्प्यूटर प्रशिक्षण एवं 8,000 आवेदकों को ‘सीसीसी‘ कम्प्यूटर प्रशिक्षण हेतु कुल 15,015 आवेदकों का चयन नियमानुसार पूर्ण कर लिया गया है तथा शीघ्र ही प्रशिक्षण का कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा, 4-समस्त संचालित विभागीय योजनाओं को आवश्यकतानुसार पूर्ण कर लिया गया है तथा, 5-सात नये छात्रावासों का निर्माण का प्रस्ताव भारत सरकार की स्वीकृति हेतु प्रेषित कर दिया गया है। श्री कश्यप ने बताया कि पिछड़ा वर्ग कल्याण के अन्तर्गत सभी पॉँच लक्षित कार्यों को, जिन्हें 100 दिन के रोड मैप में सम्मिलित किया गया था, पूर्ण कर लिया गया है।
दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के पूर्ण लक्ष्यों के बारे में बताते हुए श्री कश्यप ने बताया कि दिव्यागजन सशक्तिकरण विभाग के अन्तर्गत 100 दिन के रोड मैप के आधार पर कुल आठ कार्यों को लक्षित किया गया था, जिनमें, 1-सभी विशेष विद्यालयों (कुल 16 विशेष विद्यालय), में स्मार्ट क्लास का कार्य पूर्ण किया गया है, 2-विभाग की संचालित योजनाओं, यथा -स्वैच्छिक संस्थाओं के पंजीयन एवं अनुदान हेतु ऑनलाइन पोर्टल विकसित कर लिया गया है, 3-ऑनलाइन विभागीय बजट मॉनीटरिंग सिस्टम का विकास कर लिया गया है, 4-वर्तमान में संचालित 18 बचपन-डे-केयर सेन्टर्स में से प्रथम चरण में 09 बचपन-डे-केयर सेन्टर्स् का गुणवत्ता के सम्बन्ध में आई०एस०ओ०- 9001ः2015 प्रमाण-पत्र प्राप्त कर लिए गये हैं इसी प्रकार डॉ0 शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पूनर्वास विश्वविद्यालय में ब्रेल प्रेस की स्थापना का कार्य पूर्ण हो गया है, 6-डॉ शकुन्तला मिश्र राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय में निर्मित कृत्रिम अंगों के प्रत्यारोपण एवं पुनर्वास केन्द्र के संचालन का कार्य प्रारम्भ कर लिया गया है, 7-डॉ शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय परिसर में निर्मित विशिष्ट स्टेडियम का संचालन भी प्रारम्भ किया जा चुका है तथा, 8-विशिष्ट विद्यालय भवनों के हस्थगन का कार्य भी पूर्ण किया जा चुका है, जिसके अन्तर्गत राजकीय ममता विद्यालय, लखनऊ, मानसिक मंदित आश्रय गृह सह- प्रशिक्षण केन्द्र, लखनऊ व मंदित विशिष्ट विद्यालय, आजमगढ़ सम्मिलित हैं।
 कश्यप ने बताया कि  मुख्यमंत्री  ने अपने दूसरे कार्यकाल की शुरूआत में सभी विभागों को 100 दिन की कार्ययोजना तैयार करके निर्धारित समय में लक्ष्यों को प्राप्त करने की अपेक्षा की थी। पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग ने मुख्यमंत्री  की प्राथमिकताओं के अनुरूप युद्धस्तर पर कार्य कराते हुए अपने निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है। आगामी दिनों के लिए भी लक्ष्य निर्धारित कर दिये गये हैं। श्री कश्यप ने कहा कि पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से पिछड़े वर्ग के लाभार्थियों को शत-प्रतिशत लाभान्वित कर उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाने व दिव्यांगजनों के सर्वागीण विकास हेतु कोई कमी नहीं छोड़ी जायेगी।
Previous Post Next Post