बुंदेलखंड और पूर्वांचल में होगा करोड़ों रुपये का निवेश


लखनऊ  (मानवी मीडियाहिंदुस्तान यूनीलिवर लिमिटेड बुंदेलखंड के हमीरपुर में प्रतिवर्ष पचास हजार टन क्षमता की साबुन फैक्टरी लगाएगी। इसमें करीब 112.60 करोड़ रुपये का निवेश होगा। इसी तरह प्रयागराज, मिर्जापुर और अलीगढ़ में सीमेंट फैक्टरी लगेगी। बुलंदशहर में एथेनॉल उत्पादन प्लांट स्थापित किया जाएगा।


औद्योगिक विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव अरविंद कुमार ने सोमवार को इन कंपनियों को औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति-2017 के तहत रियायतें देने संबंधी शासनादेश जारी कर दिया।

जेकेसेम सेंट्रल लि. प्रयागराज में प्रतिवर्ष दो मिलियन टन सीमेंट उत्पादन का प्लांट लगाएगा। इस पर करीब 346.79
करोड़ रुपये का निवेश होगा। आरएलजे इंफ्रा सीमेंट लि. मिर्जापुर में 144.78 करोड़ की लागत से सीमेंट फैक्टरी लगाएगी। इससे प्रतिवर्ष 1.18 मिलिटन टन सीमेंट का उत्पादन होगा। वंडर सीमेंट लि. 528.84 करोड़ की लागत से अलीगढ़ में सीमेंट फैक्टरी लगाएगी।

मैसर्स त्रिवेणी इंजीनियरिंग एंड इलेक्ट्रॉनिक्स 175 करोड़ रुपये की लागत से बुलंदशहर के खुर्जा में एथेनॉल उत्पादन के लिए डिस्टिलरी स्थापित करेगी। इससे करीब दो हजार लोगों को प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।

शासनादेश के निवेशक कंपनियों को नियमानुसार दस वर्ष तक एसजीएसटी की 70 प्रतिशत तक प्रतिपूर्ति की जाएगी। इनके अतिरिक्त कर्मचारियों की भविष्य निधि की प्रतिपूर्ति, जमीन खरीदने में स्टांप ड्यूटी में छूट, पूंजीगत ब्याज उपादान की प्रतिपूर्ति, विद्युत ड्यूटी में छूट सहित अन्य रियायतें दी जाएगी।
Previous Post Next Post