भ्रष्टाचार पकड़ा गया तो ईडी पर दबाव डालने की कोशिशः ब्रजेश पाठक

 

लखनऊ, (मानवी मीडिया)नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी की ईडी के सामने पेशी पर कांग्रेस के प्रदर्शन पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जो जेल से बेल पर हैं वो नारा दे रहे हैं आओ दिल्ली को घेरो। उनका भ्रष्टाचार पकड़ा गया है, इसलिए ईडी पर दबाव डालने की कोशिश की जा रही है।

डिप्टी सीएम ने कहा कि आज भ्रष्टाचार के इस मामले में कुछ प्रश्नों का जवाब कांग्रेस एवं राहुल गांधी को देश के समक्ष देना चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बताए कि क्या 1930 के दशक में एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड (एजेएल) समाचार पत्र पब्लिश करने के लिए कंपनी बनी थी या नहीं, यह कंपनी 5000 स्वतंत्रता सेनानियों की भागीदारी से बनी थी या नहीं। उन्होंने पूछा कि क्या आज वही कंपनी गांधी परिवार के अंतर्गत यंग इंडियन रियल एस्टेट बिजनस नहीं कर रही है, क्या 2010 में 5 लाख रुपए से यंग इंडियन कंपनी बनाई गई थी, उसमें 76% की भागीदारी राहुल एवं सोनिया गांधी की है या नहीं?

उन्होंने राहुल गांधी से यह भी पूछा कि क्या यंग इंडियन के माध्यम से एजेएल की 2000 करोड़ रुपए से ज्यादा की पूरी संपत्ति जो स्वतंत्रता सेनानियों की थी, वो एक परिवार को सौंप दी गई? उन्होंने कहा कि कांग्रेस जवाब दे कि डॉटेक्स मर्चेंडाइज जो कोलकाता की एक हवाला कंपनी है उसके साथ राहुल गाँधी, सोनिया गाँधी के यंग इंडियन कंपनी का क्या संबंध है।

डिप्टी सीएम ने आरोप लगाया कि 2010 में एजेएल के सारे शेयर गांधी परिवार की यंग इंडियन को ट्रान्सफर कर दिए गए और इसी के साथ 2000 करोड़ की एजेएल की पूरी संपत्ति गांधी परिवार को भ्रष्टाचार के तहत दे दी गई। कांग्रेस के द्वारा जनता से चंदे के रूप में मिले 90 करोड़ रुपए को यंग इंडियन को लोन रूप में दिया गया और उसी लोन को माफ कर दिया गया था। 2010 यंग इंडिया चैरिटेबल कंपनी के रूप में बनाई गई थी, जिसमें 2016 तक कोई भी चैरिटेबल काम नहीं किया गया बल्कि उसमे रियल एस्टेट का काम शुरू किया गया।

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि गांधी परिवार के भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए दिल्ली को घेरकर आम जनता को परेशान करने का घिनौना काम कांग्रेस ने किया है। कांग्रेस द्वारा गांधी परिवार के भ्रष्टाचार को दबाने के कार्य की भाजपा घोर भर्त्सना करती है।

Previous Post Next Post