सरकार तत्काल अग्निपथ भर्ती योजना को वापस ले- युवा कांग्रेस

लखनऊ (मानवी मीडिया)उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में उ0प्र0 युवा कांग्रेस के संगठन सह प्रभारी एवं प्रवक्ता वर्चस्व पाण्डेय ने कहा कि जैसा कि आप जानते हैं कि देश का युवा सड़कों पर है। बहुत रोष है और सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना का प्रदेश भर में और पूरे देश में भारी विरोध हो रहा है। युवा कांग्रेस पूरे तरीके से युवाओं की मांग का समर्थन करते हैं।

उन्होने कहा कि युवा कांग्रेस सरकार से मांग करती हैं कि तत्काल प्रभाव से अग्निपथ भर्ती योजना वापस ली जाए और इसको तुरन्त रद्द किया जाए। क्योंकि अग्निपथ भर्ती योजना न तो राष्ट्र की सुरक्षा की हित में है, ना ही राष्ट्रहित में है, ना ही हमारे देश के नौजवानों के भविष्य के हित में है। ये योजना सरकार क्या सोचकर लाई है, इसका आंकलन करना मुश्किल है, क्योंकि ये पहली बार है कि सरकार फैसला कर देती है और बाद में पछताती है और फैसले से पीछे कदम भी लेने पड़ते हैं।

युवा कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि नोटबंदी के समय यही बात आई थी, जीएसटी कैसे आनन-फानन में लागू की गई। घंटी बजाकर उस समय ये बात आई थी। किसान आंदोलन के समय वो बात आई थी, तीन कानून लाए गए, बाद में सरकार को वापस लेने पड़े और अब ये इतना बड़ा बदलाव देश की सेना के लिए सरकार बिना सोचे- समझे लाई, ये दुर्भाग्य की बात है।

प्रवक्ता ने कहा कि युवा कांग्रेस इसलिए अग्निपथ भर्ती को वापस लेने और रद्द करने की मांग करती है क्योंकि  ये देश की सुरक्षा के हित में नहीं है। उसका कारण है कि सरकार पहले बताए कि ये अग्निपथ योजना लाने की आवश्यकता क्यों पड़ी? जबकि भारत देश, भारत वर्ष की फौज, हिंदुस्तान की फौज, जिसकी दुनिया में साख है, सबसे बेहतरीन अगर फौज कहीं की मानी जाती है, वो हिंदुस्तान की मानी जाती है, उसमें क्या कमी थी?

अब ये जो भर्ती चार साल के लिए है आप अंदाजा लगाएं, जो युवा आएंगे, पहले साल 6 महीने की बता रहे हैं ट्रेनिंग, आज एक साल की ट्रेनिंग होती है। तो उस ट्रेनिंग को भी कम करेंगे।

अगर आप किसी भी फौज से जुड़े हुए एक्सपर्ट से बात करो, तो पहला साल ट्रेनिंग, दूसरा और तीसरा साल अपने रेजिमेंट और प्रेक्टिकल ट्रेनिंग जिसको कहते हैं, तीसरे साल के बाद संपूर्ण सैनिक फौज को मिलता है। यहाँ पर पहला साल ट्रेनिंग और तीसरा और चैथा साल इस बात की चिंता में कि आगे क्या करेंगे। आगे जब यहाँ से फ्री हो जाएंगे, क्योंकि 75 प्रतिशत लोगों को फ्री कर दिया जाएगा, आगे क्या होगा। ऐसे ही जो जाएगा, आगे क्या करेगा, तो फौज में वो किस मनोबल से काम करेगा, इस पर बड़ा प्रश्न उठता है। आज कम से कम 15 साल की एक सर्विस

रहती है। तो इस असुरक्षा में जिस देश का सैनिक अपने भविष्य को लेकर असुरक्षित अपने आपको महसूस करेगा, वो देश की सुरक्षा में किस मनोबल से लगेगा, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

आज क्या कारण आ गया कि हम अपनी देश की सुरक्षा से इतना हम खिलवाड़ कर रहे हैं, ये योजना लाकर और वो देश जो देश चारों तरफ से दुश्मनों से घिरा हुआ है।  

  युवाओं में रोष किसलिए है, क्योंकि तीन साल से भर्ती नहीं हुई। संसद में एक प्रश्न केे जवाब में रक्षा मंत्री जी ने कहा था कि लगभग डेढ़ लाख पद और रिक्त हैं सेनाओं में, सैन्य बलों में और दूसरी ओर लगभग तीन साल से भर्ती हुई ही नहीं। भाजपा के शासनकाल में आज 75 साल के इतिहास में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हमारे देश में है और राष्ट्रीय प्रेम और देशभक्ति की भावना हिंदुस्तान के नौजवान में कूट-कूट कर भरी है। इसलिए करोड़ों नौजवानों के लिए फौज में जाकर देश की सेवा करना, सबसे पहला लक्ष्य होता है उनके जीवन में।

आज उ0प्र0 के कोने-कोने में युवा सड़कों पर उतर चुके हैं। यहाँ तक कि ऐसी भी खबरें हैं कि बहुत से नौजवान डिप्रेशन में आकर अपनी आत्महत्या तक के भी दुर्भाग्यपूर्ण कदम उठाए हैं। युवा कांग्रेस नौजवानों से अपील करती है कि संयम रखें, युवा कांग्रेस युवाओं की लड़ाई लड़ेगी। युवा जैसा चाहते हैं वैसी ही भर्ती खुलेगी।

इसके साथ-साथ सरकार से मांग है कि तत्काल प्रभाव से अग्निपथ योजना को वापस लिया जाए। यह भी मांग करते हैं कि भर्तियों में तीन साल की छूट दी जाए, क्योंकि तीन साल से भर्ती नहीं हुई।  

प्रवक्ता ने कहा कि देश की सुरक्षा और फौज में राजनीति नहीं होनी चाहिए, राष्ट्र नीति होनी चाहिए। राष्ट्रनीति का अर्थ जिसमें पूरे राष्ट्र को कॉन्फिडेंस में लेकर सहमति बनाकर, क्योंकि इस देश की सुरक्षा में जब कोई अपनी शहादत देता है बॉर्डर पर तो वो ये नहीं देखा जाता है कि वो कौन से राजनीतिक दल का है, कौन से धर्म का है, राजनीति करिए मगर फौज में राष्ट्रनीति ही रखिए, ऐसी युवा कांग्रेस की मांग है।

भाजपा सरकार की नीतियों से तय हो गया है कि ये ग्रामीण अंचल  किसान, मजदूर और मिडिल क्लास की जो आकांक्षाएं हैं, आशाएं हैं, उनसे दूर-दूर तक इनका कोई वास्ता नहीं है।

  युवा कांग्रेस मांग करती है कि अग्निवीर भर्ती तुरन्त वापस लिया जाए। सरकार तत्काल देश के सामने इसको वापस लिये जाने की घोषणा करे और इसके साथ ही ये भी मांग करते हैं कि सरकार देश के युवाओं से सार्वजनिक तौर पर माफी भी मांगे।

प्रेसवार्ता में उ0प्र0 युवा कांग्रेस के महासचिव  शिवम त्रिपाठी, युवा कांग्रेस के सचिव  मुकेश अवस्थी, उ0प्र0 युवा कांग्रेस के संयुक्त सचिव  देवांश तिवारी, युवा कांग्रेस लखनऊ पूर्वी के जिला अध्यक्ष  अंकित तिवारी एवं युवा कांग्रेस लखनऊ पश्चिमी के जिला अध्यक्ष  सै0 इमरान,  आदित्य सिंह मौजूद रहे।

Previous Post Next Post