मंडराया तूफान का खतरा, CM ने बदला प्रोग्राम


कोलकाता (मानवी मीडिया)  महापौर फिरहाद हाकिम ने रविवार को कहा कि कोलकाता नगर निगम (केएमसी) ने चक्रवाती तूफान 'असानी'  के बनने के मद्देनजर अपने कर्मचारियों और आपदा प्रबंधन टीमों को सतर्क कर दिया है, जिसके भीषण चक्रवात में बदलने की संभावना है.  टीएमसी महासचिव कुणाल घोष ने बताया कि आसनी तूफान की भविष्यवाणी के कारण, पश्चिम मिदनापुर और झारग्राम में सीएम ममता बनर्जी के 3 दिवसीय कार्यक्रम को 10, 11 और 12 मई से 17, 18 और 19 मई को रिशेड्यूल किया गया है. 

आपात से निपटने की तैयारी

महापौर ने कहा, चक्रवात के कारण उत्पन्न होने वाली किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए संबंधित सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द की जा रही हैं. उन्होंने कहा कि शहर में इसके फैलने की संभावना नहीं है, लेकिन चक्रवात के मद्देनजर भारी बारिश जरूर होगी. हाकिम ने यहां पत्रकारों से कहा, 'हालांकि, अगर चक्रवात शहर में आता है तो हम किसी भी स्थिति से निपटने की तैयारी कर रहे हैं ताकि जनजीवन जल्द से जल्द सामान्य हो सके.'

अम्फान से लिया सबक 

उन्होंने कहा कि मई 2020 में अम्फान चक्रवात के विनाशकारी प्रभावों से सबक लेते हुए, नगर निगम प्रशासन गिरे हुए पेड़ों और अन्य मलबे के कारण होने वाली रुकावटों को दूर करने के लिए क्रेन, विद्युत आरी और बुल्डोजर (अर्थमूवर) को सतर्क रखने जैसे सभी उपाय कर रहा है. उन्होंने कहा, 'हमें समझ नहीं आया था कि अम्फान का वास्तव में क्या प्रभाव हो सकता है, लेकिन अपने अनुभव से सीखकर हम सभी तैयारियां कर रहे हैं.'

गंभीर चक्रवात की संभावना 

गौरतलब है कि अम्फान के कारण शहर में सैकड़ों पेड़ उखड़ गए थे. कुछ इलाकों में सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गया था और कुछ दिनों के लिए शहर में बिजली की आपूर्ति ठप कर दी गई थी. हाकिम ने बताया कि 'असानी' की आवाजाही के दौरान शहर का नगर निगम प्रशासन एक नियंत्रण कक्ष चालू रखेगा. मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में स्थित असानी के उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने पर एक गंभीर चक्रवात में बदलने की संभावना है.

मंगलवार को पहुंचेगा चक्रवात 

मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि मंगलवार को असानी के उत्तर आंध्र-ओडिशा तटों से पश्चिम-मध्य और उससे सटे उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में पहुंचने पर, उत्तर-पूर्व की ओर मुड़ने और ओडिशा तट से उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ने की बहुत संभावना है. इसके बाद गंभीर चक्रवाती तूफान के बुधवार को चक्रवाती तूफान में बदलने और बृहस्पतिवार तक गहरे दबाव में बदलने की संभावना है. मौसम विभाग ने कहा कि मंगलवार से शुक्रवार तक गंगीय पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है. साथ ही पश्चिम बंगाल के पुरबा मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना के तटीय जिलों में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है.

मछुआरों को दी गई ये सलाह 

राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि इन तीन जिलों के प्रशासन चक्रवात आश्रयों, स्कूलों और अन्य पक्के ढांचे, सूखा भोजन और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक दवाएं तैयार रख रहे हैं. पुलिस और नागरिक सुरक्षा अधिकारियों ने शंकरपुर, फ्रेजरगंज और अन्य स्थानों के मछली पकड़ने के बंदरगाहों पर मछुआरों को खराब मौसम की स्थिति को देखते हुए समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है.


Previous Post Next Post