बांग्लादेशी नागरिक से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की बड़ी कार्रवाई


कोलकाता (
मानवी मीडियाप्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पड़ोसी बांग्लादेश से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला रैकेट के सिलसिले में पश्चिम बंगाल में कम से कम 9 ठिकानों पर छापेमारी की हैं। ईडी के सूत्रों के अनुसार, छापेमारी और तलाशी अभियान बांग्लादेश स्थित एनआरबी ग्लोबल बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक प्रशांत कुमार हलदर और उत्तर 24 परगना के अशोकनगर निवासी सुकुमार मृधा द्वारा धन के बड़े गबन से संबंधित हैं। बताया जा रहा है कि इन्होंने अवैध रुप से कमाए पैसों का इस्तेमाल महंगी प्रॉपर्टीज को खरीदने में किया है।

पता चला कि सुकुमार मृधा पश्चिम बंगाल में हलदर के एजेंट के तौर पर काम करता था। प्रशांत कुमार हलदर का अशोकनगर के नबापल्ली इलाके में एक घर मौजूद है।

ईडी के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा, "हमें शक है कि मृधा और हलदर के पास अन्य शहरों में भी कई संपत्तियां हैं। हम पश्चिम बंगाल में इन दोनों के रिश्तेदारों से पूछताछ कर रहे हैं।" ईडी ने इस सिलसिले में मृधा के दामाद संजीब हवलदार से भी पूछताछ की, जो अशोकनगर का रहना वाला है।

दामाद ने बताया कि उसके ससुर दो साल पहले अशोकनगर आए थे। उन्हें धन शोधन और हवाला घोटालों में अपने ससुर की संलिप्तता के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। ईडी ने शुक्रवार को एक स्थानीय व्यक्ति स्वपन मित्रा को हिरासत में लिया है। ईडी को शक है कि यह मृधा का प्रमुख सहयोगी है। ईडी के सूत्रों ने बताया कि उन्होंने स्वपन मित्रा से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए हैं।

Previous Post Next Post