इस कंपनी ने इंसानों पर दिमागी चिप ट्रायल किया शुरू


(मानवी मीडिया)  टेस्ला के सीईओ एलन मस्क  ने दिमागी चिप का ट्रायल शुरू करने की बा
त कही थी, लेकिन अब इसके ट्रायल की शुरुवात Musk के ही एक विरोधी कंपनी Synchron ने शुरू कर दिया है. इस चिप की मदद से पैरालिसिस की बीमारी से जूझ रहे लोगों को मदद मिल सकेगी.

पैरालिसिस के मरीज सोचकर ही कर सकते हैं कंट्रोल

इस कंपनी के Stentrode brain इम्प्लांट को परीक्षण के हिस्से के रूप में New York और  Pittsburgh से 6 ऐसे मरीजों के शरीर में एक पेपरक्लिप के आकार का उपकरण लगाया जाएगा. इसके प्रत्यारोपण से पैरालिसिस के रोगी केवल सोचकर ही डिजिटल उपकरणों को नियंत्रित करने में सक्षम हो जाएंगे. यह स्ट्रेन्डोट मरीजों को केवल उनकी एक सोच से ही  डिजिटल उपकरणों को नियंत्रित करने देगा और उन्हें टेक्स्टिंग, ईमेल और ऑनलाइन खरीदारी सहित दैनिक कार्यों को करने की क्षमता वापस प्रदान कर देगा.

ऑस्ट्रेलिया में मरीजों पर पहले ही हो चुका है ट्रायल

हालांकि इस प्रत्यारोपण को पहले ही ऑस्ट्रेलिया के रोगियों में प्रत्यारोपित और परीक्षण किया जा चुका है, लेकिन अब जो नया क्लीनिकल ट्रायल हो रहा है, उसको पहली बार अमेरिका में परीक्षण किया जाएगा. अगर यह सफल हुआ तो Stentrode brain implant को एक व्यावसायिक उत्पाद के रूप में बेचा जा सकता है, जिसका उद्देश्य पक्षाघात के रोगियों को  वापस उनकी पुरानी जिंदगी में लौटाया जा सकेगा.

क्या होता है Stentrode?

Synchron कंपनी का प्रोडक्ट STENTRODE एक Brain Computer Interface (BCI) होता है, जो इंसान के दिमाग के motor cortex में jugular नसों में न्यूनतम तकनीक से लगाया जाता है. जैसे ही इसको प्रत्यारोपित कर दिया जाता है वैसे ही आपके दिमाग की गतिविधियों को एक standard डिजिटल एक्टिविटी में तब्दील कर देती है, जिससे मरीज अपने रोजमर्रा के कामों को केवल एक सोच के जरिए ही कर सकता है, जैसे की किसी को मैसेज भेजना, ईमेल करना, ऑनलाइन खरीददारी. इस तकनीक से मरीज को आत्मनिर्भर होने की भी हिम्मत मिलती है.

FDA ने किया पुरस्कृत

ऐसा माना जा रहा है कि Synchron अपने प्रतिद्वंद्वी, न्यूरालिंक की तुलना में तेज गति से आगे बढ़ रहा है, जो एलन मस्क का है. सिंक्रोन का क्लिनिकल परीक्षण, (जिसे कमांड कहा जाता है) IDE यानी Investigational Device Exemption के तहत किया जा रहा है जिसे यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) द्वारा प्रदान की गई पहली जांच उपकरण छूट (आईडीई) के तहत आयोजित किया जा रहा है. इसे FDA कि तरफ से पुरस्कृत भी किया जा चुका है. IDE ही किसी उपकरण को clinical study के लिए डाटा एकत्रित करने कि अनुमति देता है. 

कैसे काम करेगा Synchron का ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस?

Synchron's brain-computer interface (BCI) Stentrode  में एक लचीली मिश्र धातु से बना एक प्रकार का scaffold होता है जिसे Nitinol कहा जाता है. इस scaffold में dotted इलेक्ट्रोड होते है, जो मस्तिष्क में neural संकेतों को रिकॉर्ड कर सकता है. इस उपकरण को रक्त वाहिका  में प्रत्यारोपित किया जा सकता है, जो मोटर कॉर्टेक्स के ऊपर होती है. इस device के प्रत्यारोपण के लिए एक 'न्यूनतम इनवेसिव' प्रक्रिया की आवश्यकता होती है, जिसमें गर्दन में एक छोटा सा चीरा लगाया जाता है, जो हृदय में स्टेंट डालने के समान होता है और बार गर्दन पर फिट होते ही इलेक्ट्रोड्स को दिमाग के पास पंहुचा कर neural संकेतो को रिकॉर्ड करने लगता है. 

यह तरंगे उसके बाद आपकी छाती के साथ संपर्क साध कर दिमाग के साथ जोड़ देता है. आपको बता दें कि आपके chest यानी छाती को भी एक तार के साथ जोड़ा जाता है, जिसके माध्यम से ये सभी सिग्नल electrode mesh के माध्यम से सफर करती है. इसका मतलब यह है कि एक मरीज़ जो उसके कंप्यूटर स्क्रीन पे देख रहा है यानी की जैसे cursor, on screen  Keyboard अब सीधे उसका दिमाग इन सब से जुड़ गया है और अपने दिमाग के माध्यम से बिना हाथ लगाए भी अपने कंप्यूटर, लैपटॉप को कंट्रोल कर सकता है.

एलन मस्क की कंपनी कर रही है क्लीनिकल ट्रायल

आपको बता दें की Journal of NeuroInterventional Surgery के एक लेख के मुताबिक इससे पहले साल 2020 में  Stentrode को दो ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों जो एक nervous system disease से भुगत रहे थे उनपर ट्रायल किया गया था. Synchron पहली कंपनी है, जिसने इंसानो पर BCI technology का शोध किया और वहीं इसके प्रतिद्वंदी  Elon Musk की Neuralink आज भी अपने लिए एक क्लीनिकल ट्रायल डायरेक्टर की नियुक्ति में लगा हुआ है.



Previous Post Next Post