सरकार की नीतियों के कारण दलितों को नहीं मिल रहा न्याय : कांग्रेस सुप्रिया


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): कांग्रेस ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार आज धूमधाम से बाबा साहब अंबेडकर की जयंती मना रही है लेकिन सच्चाई यह है किभारतीय जनता पार्टी(भाजपा) सरकार की नीतियां दलित विरोधी है इसलिए उनको न्याय नही मिल रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने गुरुवार को यहां पार्टी मुख्यालय में विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मोदी सरकार में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं और दलित कल्याण से जुड़ी विभिन्न योजनाओं के लिए केंद्रीय बजट घटा दिया गया है। उन्होंने कहा कि आज औसतन 10 महिलाओं से रोज दुष्कर्म हो रहा है। दलितों पर अत्याचार बढ़े है और दलित परिवारों में 22 प्रतिशत छोटे बच्चों का यौन शोषण होता है। कमाल यह है कि जब ऐसा होता है तो पुलिस और प्रशासन पीडि़त और कमजोर दलितों को ही प्रताडि़त करता है और उन्हें गलत साबित करने की कोशिश होती है। श्रीनेत ने कहा कि भाजपा दलित विरोधी है और यह उसके काम में भी प्रतिबंधित होता है। दलितों के लिए केंद्रीय बजट घट रहा है और दलित परिवारों की बच्चियों को पढ़ाने के लिए प्रेरित करने वाली योजना का बजट कम हो रहा है। इस वर्ग के बच्चों की छात्रवृत्ति भी समय पर नहीं दी जा रही है। पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति का आवंटन घटा है। प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति का पैसा भी नौ राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेशों तक नहीं पहुंचा है।

मैला ढ़ोने की प्रथा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि 2015 से 2020 के बीच 325 लोगों की सेफ्टिक टैंक में काम के दौरान मृत्यु हुई है। सेप्टिक टैंक की सफाई और मैला ढोना एक ही तरह के काम हैं लेकिन सरकार इसे अलग-अलग बताती है और झूठ बोलती है कि देश में मैला ढोने की प्रथा अब नहीं है।

उन्होंने कहा कि दलितों के लिए पुनर्वास का आवंटन भी सरकार ने आधा किया है । सरकार संविधान की धज्जियां उड़ा रही है और सामाजिक न्याय के बाबा साहब के संदेश को नकार रही है।

Previous Post Next Post