बाल-बाल बचे केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल


आगरा (
मानवी मीडिया डा. भीमराव आंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित भीम नगरी महोत्सव में भीषण हादसा हो गया। आंधी के कारण लोहे का भारी बीम मुख्य मंच पर गिर गया। बीम के नीचे एक दर्जन लोग दब गए। अस्पताल में एक की मौत हो गई। इश दौरान मौके पर मौजूद केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल बाल-बाल बच गए। 

शुक्रवार को उद्घाटन कार्यक्रम में केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल आए थे। बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण और फीता काटकर कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद केंद्रीय मंत्री सामने बैठे जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। केंद्रीय राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल के साथ पूर्व मंत्री जीएस धर्मेश, अजयशील गौतम के साथ मंच 35-40 लोग मौजूद थे।  इसी दौरान हल्की बूंदें और तेज आंधी चलने लगी।

आंधी के दौरान मुख्य मंच की बिजली चली गई। अंधेरा छा गया। मंच के सामने लगा लोहे का भारीभरकम लाइटिंग बीम (लाइट लगाने का स्टैंड) मुख्य मंच पर गिर गया। पहली पंक्ति के सोफे पर बैठे लोग इसके नीचे दब गए। पीछे की ओर बैठे लोगों ने दबे लोगों को बाहर निकाला। राजू नामक युवक लहूलुहान था। उसे नामनेर के निजी अस्पताल लेकर गए, जहां उसकी हालात देखकर डाक्टरों ने एसएनएमसी की इमरजेंसी रेफर किया गया। कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई।

मंत्री भी पहले सोफे पर ही बैठे थे
केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल पहले मंच पर आगे की पंक्ति में बिछे सोफे पर ही बैठे थे। उनके उद्बोधन के दौरान आंधी के साथ हल्की बूंदें आने लगीं। सामने बैठे लोग उठने तो उन्होंने कहा कि बैठे रहिए... इस बीच बिजली गुल हो गई। मेघवाल बिजली जाने पर माइक थामे ही खड़े रहे। वे माइक छोड़कर सोफे पर बैठ गए होते तो उस बीम के नीचे दब सकते थे।

सक्रिय सदस्य था मृतक राजू
हादसे में मारे गए राजू भीम नगरी आयोजन समिति के अध्यक्ष पूर्व राज्यमंत्री अजय शील गौतम के भतीजा था। वह नगला पदमा का प्रधान भी रह चुका है। वह आयोजन समिति का सक्रिय सदस्य था। केंद्रीय कमेटी के अध्यक्ष करतार सिंह भारती और सीओ सदर ने बताया कि हादसे में राजू गंभीर रूप से घायल हो गया था। अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

Previous Post Next Post